Hindi Newsportal

फैक्ट चेक : इन शहरों को मिलेगा कोरोना की वैक्सीन का पहला डोज़? जानें सच

0 285

भारत के साथ- साथ दुनिया के कई देश कोरोना की वैक्सीन पर काम कर रहे है, जिसमे भारत सहित कई देशों को वैक्सीन के कुछ चरण तक कामयाबी भी मिल गयी है। ऐसे में सोशल मीडिया पर कोरोना की वैक्सीन को लेकर कई फेक खबरे वायरल हो रही है। ऐसे में कुछ फेक पोस्ट कोरोना की वैक्सीन को लेकर वायरल किये जा रहे है। एक रिपोर्ट में तो ये दावा किया जा रहा है कि वैक्सीन बनने के बाद इस वैक्सीन का पहला डोज़ मुंबई और पुणे को मिलेगा।

कैप्शन में लिखा है – “देखिए भारत में किस शहर में रहने वाले लोगों को सबसे पहले दी जाएगी कोरोना वैक्सीन”

फैक्ट चेक :

न्यूज़ मोबाइल ने इन ख़बरों का फैक्ट चेक किया और जाना की खबर फेक है।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक | रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सीमा पर निम्बू-मिर्ची लगाते ये तस्वीर फेक है; जानें सच

सच जानने के लिए हमने गूगल पर कुछ शब्दों के माध्यम से खोज की। कीवर्ड्स में हमने कोरोनावायरस, COVID-19 , वैक्सीन, सीरम इंस्टीट्यूट,ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी,मुंबई, पुणे, जैसे कई कीवर्ड्स पर खोजा जिससे हमें 23 जुलाई, 2020 की इंडिया न्यूज़ की वेबसाइट पर पीटीआई की एक रिपोर्ट मिली।

रिपोर्ट के अनुसार, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने ये कहा था कि, ‘अगस्त के अंत तक, पुणे और मुंबई में 4,000 से 5,000 लोगों को कोरोना वैक्सीन का डोज़ दिया जायेगा और ये केवल ट्रायल के तौर पर होगा। SII ने ये भी कहा था कि वैक्सीन के डोज़ देने की ये प्रक्रिया दो महीने तक चलेगी।

इस आर्टिकल के अंत में हिंदी में लिखा है कि मुंबई और पुणे में 4000-5000 लोगों पर क्लीनिकल ट्रायल किया जायेगा न की कोरोना की वैक्सीन का डोज़ दिया जायेगा। इस आर्टिकल की हैडलाइन और पहले पैराग्राफ ने लोगों को इस खबर के लिए भ्रामक बना दिया।

यदि आप किसी भी स्टोरी को फैक्ट चेक करना चाहते हैं, तो इसे +91 88268 00707 पर व्हाट्सएप करें।