Hindi Newsportal

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा ऑर्डर्न के किया नए मंत्रिमंडल का गठन, 50 फीसदी महिलाएं, 10 फीसदी ट्रांसजेंडर को किया शामिल

Image Credits - New Zealand Labour /Twitter
0 338

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा ऑर्डर्न आये दिन सुर्खियों में रहती है। दुनिया की सबसे छोटी महिला प्रधानमंत्री का पद हो, चाहे व्यवहारदारी, कोरोना जैसी महामारी से निपटना हो या देश को नयी उचाईयों पर पहुंचना हो ऐसा कोई काम या क्षेत्र नहीं है जहाँ उन्होंने अपने देश की जनता को निराश किया हो। इन्हीं काबिलियत को दर्शाते हुए और एक और इतिहास रचते हुए न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा ऑर्डर्न ने इस चुनाव में एक तरफ़ा जीत तो हासिल की है मगर अब उनके नए मंत्रिमंडल के एलान ने दुनिया को चौका दिया है।

आइये जानें न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा ऑर्डर्न के अनोखे नव निर्वाचित मंत्रिमंडल के बारे में।

नानैया महुता – विदेश मंत्री – जेसिंडा ऑर्डर्न ने अपने नए मंत्रिमंडल में नानैया महुता को अपना विदेश मंत्री बनाया है, जो मूलवासी माओरी समुदाय की हैं। महुता ने अपनी ठोड़ी पर मोको काउए नामक पारंपरिक टैटू बनवा रखा है। यह माओरी समुदाय की खास पहचान है।

जेसिंडा की 20 मजबूत कैबिनेट में आठ सदस्य महिलाएं हैं। इनमें से पांच माओरी (Maori) हैं, तीन पासिफ़िका (Pasifika) हैं और तीन एलजीबीटी (LGBT) हैं।

जेसिंडा ने अपने मंत्रिमंडल को बहुत ही विविध, योग्य, भिन्न और टैलेंटेड लोगों से भरा है। उन्होंने न्यूज़ हब चैनल से बात करते हुए कहा कि ये ज़रूरी नहीं है कि हमने कैबिनेट में किन लोगों को चुना है, ये ज़रूरी है कि इन अलग अलग तपकों से जुड़े लोग कैबिनेट में क्या नए मुद्दे और विषय लेकर आते है। जेसिंडा का कहना है कि न्यू न्यूजीलैंड की जनता ने उन्हें चुना है जो अपने आप में एक गर्व की बात है। एक तरफ जहाँ माओरी (Maori),पासिफ़िका (Pasifika) और एलजीबीटी (LGBT) उनकी कैबिनेट में दबदबा रखते है वहीं उनके मंत्रिमंडल में कोरोना के रोकथाम की कमान क्रिस हिपकिन्स को सौपी गयी है वहीं एंड्रयू लिटिल, को स्वास्थ्य मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया है।

न्यूजीलैंड के नए उप प्रधानमंत्री ग्रांट रॉबर्टसन (Grant Robertson) भी गे (Gay) यानी समलैंगिक हैं।

नई संसद में शरणार्थी के तौर पर न्यूजीलैंड आए समुदाय को भी प्रतिनिधित्व मिला है। गोलरिज गहरामैन ग्रीन पार्टी की तरफ से सदस्य चुने गए हैं। महुता को विदेश मंत्री बनाए जाने पर उन्होंने खास खुशी जताई। कहा कि न्यूजीलैंड ने विदेशी मामलों में अपनी आवाज को उपनिवेशवाद के असर से मुक्त करने की पहल की है। माओरी समुदाय में भी इस खबर से खुशी की लहर दौड़ी है।

केरल की प्रियंका राधाकृष्णन न्यूजीलैंड में बनी मंत्री, न्यूजीलैंड के मंत्रिमंडल में जगह पाने वाली बनी पहली भारतीय।

Priyanca-Radhakrishnan

केरल की प्रियंका राधाकृष्णन ने भी न्यूजीलैंड में मंत्री के रूप में पद की शपथ ली। वे पहली भारतीय हैं जिन्होंने न्यूजीलैंड के मंत्रिमंडल में जगह पाई है। 41 वर्षीय राधाकृष्णन ने सामुदायिक और स्वैच्छिक क्षेत्र मंत्री के रूप में शपथ ली है। वह चेन्नई में पैदा हुईं और सिंगापुर में पली-बढ़ी। उनके दादा कोच्चि में एक चिकित्सा पेशेवर थे और कम्युनिस्ट भी थे। बता दे वह पढ़ाई करने के लिए न्यूजीलैंड आईं थी और 2004 से लेबर पार्टी के जरिए सक्रिय राजनीति में हैं।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram