Hindi Newsportal

‘नो मनी फॉर टेरर’ सम्मेलन में भाग लेंगे 78 देश, पाकिस्तान की नो एंट्री

0 107

नई दिल्ली: भारत राष्ट्रीय राजधानी में 18 नवंबर से 19 नवंबर के बीच होने वाले “नो मनी फॉर टेरर” सम्मेलन के लिए तैयार है, वहीं पाकिस्तान इस सम्मेलन में भाग नहीं लेगा.

 

यह सम्मेलन 18 नवंबर से 19 नवंबर के बीच होने वाला है. एनआईए के डीआईजी दिनकर गुप्ता ने कहा कि “नो मनी फॉर टेरर’ सम्मेलन के तीसरे संस्करण में 78 देश और बहुपक्षीय संगठन भाग ले रहे हैं. PM मोदी सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे.”

उन्होंने आगे कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग क्राउडफंडिंग प्लेटफॉर्म के रूप में किया जाता है, और ऐसे स्रोतों के माध्यम से जुटाए गए धन का उपयोग अंततः आतंकी उद्देश्यों के लिए किया जाता है, जबकि “यह एक ऐसा मुद्दा है जिस पर चर्चा करने की आवश्यकता है.”

 

उन्होंने घोषणा की कि पाकिस्तान सम्मेलन का हिस्सा नहीं होगा. हालांकि, सचिव पश्चिम (MEA) संजय वर्मा ने कहा कि, चीन को ‘नो मनी फॉर टेरर’ सम्मेलन में आमंत्रित किया गया है.

 

पीएम मोदी करीब 11 बजे सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे, भारत आतंकवाद के वित्तपोषण से निपटने में चुनौतियों का समाधान करने के लिए सभी देशों से सहयोग मांगेगा.

 

सम्‍मेलन के एजेंडे में क्राउडफंडिंग, अज्ञात, विकेन्द्रीकृत और आतंकवाद के वित्तपोषण की अप्राप्य प्रकृति, उभरते आतंकवाद-वित्तपोषण तंत्रों के खतरों की पहचान और न्यूनीकरण में प्रभावी बहुपक्षीय और बहु-हितधारक दृष्टिकोण, गैर-लाभकारी और गैर सरकारी संगठनों का दुरुपयोग शामिल है.

 

इस सम्मेलन का उद्देश्य पेरिस (2018) और मेलबर्न (2019) में पिछले दो सम्मेलनों में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा आयोजित आतंकवादी वित्तपोषण से निपटने पर चर्चाओं को आगे बढ़ाना है.

 

(एजेंसी इनपुट्स के साथ)