Hindi Newsportal

कर्नाटक पहुंचे पीएम मोदी ने कलबुर्गी और यादगीर को दी 10,800 करोड़ रुपए की सौगात

0 232

बेंगलुरू: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज चुनावी राज्य कर्नाटक के दौरे पर हैं. यहां वह कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के गढ़ कलबुर्गी और यादगीर जिलों में 10,800 करोड़ रुपये की सिंचाई, पेयजल और सड़क विकास से जुड़ी परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तरी कर्नाटक के यादगिरि में कोडेकल में सिंचाई, पेयजल और राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजनाओं से संबंधित विभिन्न विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखने और उद्घाटन कार्यक्रम में हिस्सा लिया. इस दौरान मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई भी मौजूद रहे.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कन्नड़ भाषा में जनसभा में आए लोगों का अभिवादन किया. उन्होंने यादगीर की धरती को समृद्ध विरासत वाला   बताया. उन्होंने कहा कि पंडाल छोटा पड़ गया है, कुछ लोग धूप में खड़े हैं. मैं आपको प्रणाम करता हूं. आपका यह समर्थन और प्यार हमारे लिए बहुत महत्व रखता है.

 

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, नारायणपुर लेफ्ट बैंक नहर- विस्तार, नवीनीकरण और आधुनिकीकरण से कलबुर्गी, यादगिरी और विजयपुर जिलों के लाखों किसानों को सीधे लाभ मिलने वाला है. सूरत-चेन्नई आर्थिक कॉरिडोर का जो हिस्सा कर्नाटक में पड़ता है उसका भी आज काम शुरू हुआ है.

 

उन्होंने आगे कहा, जिस प्रकार उत्तर कर्नाटक के विकास के लिए तेजी से काम हो रहा है वो सराहनीय है. अब देश अगले 25 वर्षों के नए संकल्पों को सिद्ध करने के लिए आगे बढ़ रहा है. ये 25 साल देश के प्रत्येक व्यक्ति के लिए अमृतकाल है, प्रत्येक राज्य के लिए अमृतकाल है. अमृतकाल में हमें विकसित भारत का निर्माण करना है. भारत विकसित तब हो सकता है जब देश का हर नागरिक, हर परिवार, हर राज्य इस अभियान से जुड़े, जब खेत में काम करने वाला किसान हो या फिर उद्योगों में काम करने वाला श्रमिक का जीवन बेहतर हो.

 

पीएम मोदी ने कर्नाटक को 10 हजार 800 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की सौगात दी. यादगीर के कोडेकल में सिंचाई, पीने के पानी और दूसरी विकास परियोजाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. सिंचाई परियोजना से 3 लाख से ज्यादा किसानों को फायदा पहुंचेगा. वहीं पेयजल योजना से 2 लाख 30 हजार घरों में पीने का पानी पहुंचेगा. इसके अलावा पीएम ने सूरत-चेन्नई एक्सप्रेसवे का हिस्सा बनने वाली राजमार्ग परियोजना का उद्धाटन किया.