Hindi Newsportal

उन्नाव पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंचे मंत्रियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

0 2,071

उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और कमल रानी वरुणभाजपा संग सांसद साक्षी महाराज शनिवार को जब उन्नाव में 23 वर्षीय महिला के परिवार से मिलने पहुंचे, जिसकी कल रात मौत हो गई, तभी गुस्साए स्थानीय लोगों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया.

यूपी पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए बल का प्रयोग किया, जो ‘वापस जाओ, वापस जाओ ‘ के नारे लगा रहे थे और राज्य सरकार के खिलाफ नारे लगा रहे थे.


इससे पहले दिन में, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत अत्यंत दुखद हैं और घोषणा की कि इस मामले को फास्ट-ट्रैक अदालत में लाने की कोशिश की जाएगी।

बता दे कि 23 वर्षीय महिला को पांच लोगो ने आग लगा दी, जिनमें दो महिला के बलात्कार के आरोपी थे। शुक्रवार की रात 11.40 बजे कार्डियक अरेस्ट के बाद पीड़ित की मौत हो गई थी, जो 90 फीसदी से ज्यादा झुलस गयी थी.

मौर्य ने पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद कहा कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा, “पीड़िता के परिवार को जो भी जांच चाहिए, हम करेंगे। जिन नामों को पीड़िता ने लिया है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। यह राजनीति का विषय नहीं है,” उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया. उन्होंने कहा कि 25 लाख रुपये के अलावा, परिवार को एक सरकारी घर दिया जाएगा।

इसके अलावा समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव, कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा और बहुजन समाज पार्टी की मायावती सहित विपक्षी नेताओं ने योगी आदित्यनाथ की सरकार की कड़ी आलोचना।

प्रियंका गांधी ने आज उन्नाव में पहले पीड़ित परिवार से मुलाकात की और कहा कि उन्हें लगता है कि “यहां महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है”।

योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे की मांग को लेकर अखिलेश यादव आज सुबह लखनऊ में राज्य विधानसभा के बाहर धरने पर बैठ गए।


वही मायावती ने आरोप लगाया कि “उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले के बिना एक भी दिन नहीं जाता है।”

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram