Hindi Newsportal

इन पार्टियों से मिलकर बना है भाजपा के नेतृत्व वाला NDA गठबंधन, यहाँ देखें पूरी लिस्ट

0 635

इन पार्टियों से मिलकर बना है भाजपा के नेतृत्व वाला NDA गठबंधन, यहाँ देखें पूरी लिस्ट

देश में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान हो रहे हैं। इन आम चुनावों के लिए कुल सात चरणों में मतदान होना है, जिनमें कुल छह चरणों की वोटिंग प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। इस दौरान कुल 486 सीटों पर मतदान किए जा चुकें हैं और अब सातवें चरण में 8 राज्यों की शेष 57 सीटों पर 1 जून को वोटिंग की जाएगी। 4 जून को वोटों की गिनती के साथ साफ हो जाएगा कि देश में मोदी की गारंटी चली या इंडिया गठबंधन के दावों ने धूम मचाया।

इन आम चुनावों में भाजपा का सामना करने के लिए विपक्ष के एकजुट होकर ‘INDIA गठबंधन’ बनाया है, जिनमें कुल 26 राजनीतिक दल शामिल हैं, और यह सभी 26 पार्टियां INDIA गठबंधन के बैनर तले चुनाव लड़ रहे हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि भाजपा की लीडरशिप वाला NDA गठबंधन कितने दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ रहा है।

तो इस लेख में उन्हीं मुख्य राजनीतिक दलों की जानकारी दी गयी है जो NDA गठबंधन के साथ मिलकर लोकसभा 2024 में चुनाव लड़ रहे हैं।

 

तमिल मनीला कांग्रेस:कांग्रेस से अलग होकर तमिल मनीला कांग्रेस (टीएमसी) बनाने वाले जी के मूपनार सैद्धांतिक तौर से बीजेपी के करीबी नहीं थे। इस पार्टी की स्थापना उन्होंने तमिलनाडु में डीएमके के सहयोग के लिए की थी। तमिल मनीला कांग्रेस राज्य में एआईडीएमके की सहयोगी रही है। तमिल मनीला कांग्रेस की स्थापना तमिलनाडु के दिग्गज नेता जी. के. मूपनार ने 1996 में कांग्रेस से बगावत के बाद की थी। जी के वासन संस्थापक जी के मूपनार के बेटे हैं।

पट्टाली मक्कल काची: पट्टाली मक्कल काची तमिलनाड एक राजनीतिक पार्टी है, जिसकी स्थापना 1989 में एस. रामदास ने उत्तरी तमिलनाडु में वन्नियार जाति के लिए की थी। यह भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्सा है। यह “पका हुआ आम” चिह्न के साथ चुनाव लड़ता है।

पुथिया तमिलगाम (Puthiya Tamilgam): पुथिया तमिलगाम की स्थापना के. कृष्णास्वामी ने 1997 में की थी और इसका तमिलनाडु के दलित समुदाय पल्लर के बीच वोट बैंक है। पार्टी ने AIADMK और DMK दोनों के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ा है और 2011 में दो सीटें जीती हैं।

पार्टी 2019 में भाजपा-एआईडीएमके-पीएमके गठबंधन में शामिल हो गई। इसके संस्थापक कृष्णास्वामी ने भाजपा के वैचारिक स्रोत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के पक्ष में बात की है और इसे “राष्ट्रवादी” संगठन बताया है। उन्होंने भाजपा पर राज्य में हिंदी थोपने की कोशिश करने के आरोपों का भी खंडन किया है।

अखिल भारतीय एनआर कांग्रेस- ऑल इंडिया एन आर कांग्रेस (All India N R Congress) केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में मुख्यमंत्री एन. रंगास्वामी द्वारा गठित एक क्षेत्रीय राजनीतिक दल है. उन्होंने 7 फरवरी 2011 को पुडुचेरी में पार्टी के मुख्य कार्यालय में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से अलग होकर पार्टी के गठन की घोषणा की थी. वर्तमान में यह भारत की सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्सा है.

शिव सेना (एकनाथ शिंदे): शिव सेना एक दक्षिणपंथी मराठी क्षेत्रवादी और हिंदू अतिराष्ट्रवादी राजनीतिक दल है, जिसकी स्थापना 1966 में बाल ठाकरे ने की थी. वर्तमान में एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली यह पार्टी 2019 से महाराष्ट्र की सत्तारूढ़ पार्टी है. शिव सेना का चुनाव चिन्ह धनुष और तीर है. झंडे में केसरिया रंग और दहाड़ते हुए बाघ की छवि अंकित है। जून 2022 के अंत में, शिव सेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे और शिव सेना के अधिकांश विधायकों ने बीजेपी से हाथ मिला लिया

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (अजित पवार):  जुलाई 2023 में, अजीत पवार के नेतृत्व वाली पार्टी के अधिकांश निर्वाचित प्रतिनिधि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार में शामिल हो गए । इससे अजीत पवार और पार्टी के संस्थापक-अध्यक्ष शरद पवार के बीच सीधा विभाजन हो गया । 7 फरवरी 2024 को, भारत के चुनाव आयोग ने अजीत पवार के नेतृत्व वाले समूह को पार्टी का नाम और प्रतीक प्रदान किया। शरद पवार के नेतृत्व वाले समूह को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (शरदचंद्र पवार) के नाम से जाना जाएगा ।

रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (अठावले) (RPI Athawale): रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (अठावले) भारत में एक राजनीतिक पार्टी है। यह पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया का एक अलग समूह है और इसकी जड़ें बी.आर. अंबेडकर के नेतृत्व वाले अनुसूचित जाति महासंघ में हैं। पार्टी के अध्यक्ष रामदास अठावले हैं। 

राष्ट्रीय समाज पक्ष (Rashtriya Samaj Paksha): 

राष्ट्रीय समाज पक्ष (RSP) का गठन श्री महादेव जानकर ने 2003 में समाज के पिछड़े और शोषित वर्गों के उत्थान और उन्हें वह स्थान दिलाने के उद्देश्य से किया था जिसके वे हकदार हैं। पार्टी के सदस्य किसानों, मजदूरों, पशुपालकों और इसी तरह के अन्य लोगों के वास्तविक मुद्दों को समझने के लिए भारत के सभी हिस्सों में जमीनी स्तर पर काम करते हैं। समाज में बदलाव लाने के लिए, राष्ट्रीय समाज पक्ष (RSP) राजनीतिक मंच पर बहुत सक्रिय है।

जन सेना पार्टी: जन सेना या जन सेना पार्टी आंध्र प्रदेश और तेलंगाना राज्यों में स्थित एक भारतीय राजनीतिक पार्टी है। इसकी स्थापना तेलुगु फिल्म स्टार पवन कल्याण ने 14 मार्च 2014 को की थी।

प्रहार जनशक्ति पार्टी : प्रहार जनशक्ति पार्टी, जिसे संक्षिप्त रूप में पीजेपी कहा जाता है, भारत के महाराष्ट्र में एक भारतीय राज्य-स्तरीय राजनीतिक दल है। पीजेपी एक मान्यता प्राप्त राज्य राजनीतिक दल है। पीजेपी की स्थापना 1999 में किसान विकास की विचारधारा के साथ ओमप्रकाश बाबाराव कडू ने की थी।

जन सुराज्य शक्ति (Jan Surajya Shakti): जेएसएस की स्थापना पूर्व गैर-परंपरागत ऊर्जा और बागवानी राज्य मंत्री विनय कोरे ने की थी। 2019 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में, जेएसएस ने चार सीटों पर चुनाव लड़ा, जिसमें से एक सीट पर जीत हासिल की और जिन निर्वाचन क्षेत्रों में उसने चुनाव लड़ा, वहां कुल मिलाकर 21.34 प्रतिशत वोट शेयर हासिल किया। कोरे पार्टी के एकमात्र विधायक हैं, जो कोल्हापुर जिले के शाहूवाड़ी निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं।

महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (MGP): महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी सन 1961 में गोवा की मुक्ति के बाद गोवा विधानसभा में बहुमत प्राप्त करने वाला पहला राजनैतिक दल था। सन 1963 में गोवा, दामन और दिउ में हुए प्रथम विधानसभा चुनावों में महाराष्ट्रवादी गोमान्तक पक्ष को बहुमत मिला था और उसने सरकार बनायी। यह पार्टी 1979 तक सत्ता में बनी रही।

लोक जनशक्ति पार्टी: लोक जनशक्ति पार्टी, एक राज्य राजनीतिक पार्टी थी जो मुख्य रूप से भारत के बिहार राज्य की राजनीति में सक्रिय थी। पार्टी का गठन 2000 में हुआ जब राम विलास पासवान जनता दल से अलग हो गए। बिहार में दलितों के बीच पार्टी की अच्छी-खासी पकड़ थी।

राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (पारस, RLJP): राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी एक भारतीय राजनीतिक दल है, जिसका गठन अक्टूबर 2021 में भारत सरकार के केंद्रीय मंत्री और लोकसभा सांसद पशुपति कुमार पारस के नेतृत्व में हुआ था। यह पहले एकीकृत लोक जनशक्ति पार्टी का हिस्सा था, लेकिन अब यह दो दलों में बंट गया है, दूसरे गुट ने लोक जनशक्ति पार्टी का गठन किया है।

हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) (HAM): हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्युलर) भारत के बिहार राज्य आधारित एक राजनैतिक दल है। इस दल के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी हैं। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने जनता दल यूनाइटेड से अलग होकर हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेकुलर) पार्टी का गठन किया था। देश के क्षेत्रीय राजनीतिक दलों में बिहार की हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेकुलर) का महत्वपूर्ण स्थान है.

ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (AJSU): झारखण्ड राज्य में एक क्षेत्रिय राजनितिक दल है। इस दल के संस्थापक निर्मल महतो थे। इसके केन्द्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो हैं। आजसू की स्थापना 22 जून 1986 को ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन के बाद की गई थी ।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी : सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी भारत मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में सीमित आधार वाली एक क्षेत्रीय पार्टी है। इस राजनीतिक दल की स्थापना 2002 में ओम प्रकाश राजभर के नेतृत्व में हुई। पार्टी का नेतृत्व ओम प्रकाश राजभर ही करते हैं। पार्टी का मुख्यालय वाराणसी जिले के फतेहपुर गांव में है।

शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) (SADS):अकाली दल का गठन दिसंबर 1920 को 14  शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी, सिख धार्मिक शरीर के एक कार्य बल के रूप में किया गया था। अकाली दल खुद को सिखों के प्रमुख प्रतिनिधि मानता है। सरदार सरमुख सिंह चुब्बल एकीकृत अकाली दल के पहले अध्यक्ष थे, लेकिन इसने मास्टर तारा सिंह (1883-1967)के नेतृत्व में अधिक लोकप्रियता प्राप्त की। मास्टर तारासिंह कट्टर सिक्ख नेता थे।

अपना दल (सोनेलाल) (Apna Dal Sonelal): अपना दल यूपी का एक अहम राजनीतिक दल हैं. इसकी स्थापना 4 नवंबर 1995 को डॉक्टर सोनेलाल पटेल ने किया था. सोनेलाल पटेल पहले बहुजन समाज पार्टी में कांशीराम के साथ जुड़े हुए थे. बाद में मतभेद के चलते बसपा से अलग हो गए और अपना दल की नींव रखी. देश के क्षेत्रीय राजनीतिक दलों में एक अपना दल (सोनेलाल) पार्टी उत्तर प्रदेश में सक्रिय है.

केरल कामराज कांग्रेस (KKC)

भारत धर्म जन सेना:भारत धर्म जन सेना ( बीडीजेएस ) भारत में एक राजनीतिक दल है। तुषार वेल्लापल्ली BDJS के वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। बीडीजेएस केरल में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का एक घटक है। बीडीजेएस एसएनडीपी योगम की राजनीतिक शाखा है।

निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल (निषाद) (NISHAD): निषाद पार्टी या “निर्बल भारतीय शोषित हमारा आम दल” भारत में एक राजनीतिक दल है। निशाद पार्टी की स्थापना 2016 में हुई थी। निषाद पार्टी का मतलब है निषाद जाति के सशक्तिकरण के लिए निषाद पार्टी का गठन किया गया, जो कि 20 समुदायों में से एक है जिसका परंपरागत व्यवसाय नदियों पर केंद्रित है। यह जाति पिछड़ी जाति के अधीन है।

हरियाणा लोकहित पार्टी (HLP): हरियाणा लोकहित पार्टी के अध्यक्ष गोपाल कांडा ने आगामी लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को बिना शर्त समर्थन देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि हरियाणा लोकहित पार्टी सिरसा से भाजपा के लोकसभा उम्मीदवार अशोक तंवर का पूरा समर्थन करेगी। गोपाल कांडा सिरसा विधानसभा क्षेत्र से मौजूदा विधायक हैं।

असम गण परिषद (Asom Gana Parishad):

भारतीय राज्य असम की क्षेत्रीय राजनैतिक पार्टी है। यह पार्टी ऐतिहासिक ‘असम आंदोलन’ के बाद अस्तित्व में आई थी। चुनाव के बाद इसके अध्यक्ष प्रफुल्ल कुमार महन्त असम राज्य के मुख्यमंत्री बने थे। यह असम का प्रमुख क्षेत्रीय दल है, जिसका उदय ‘असम आंदोलन’ के फलस्वरूप हुआ था।

यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (UPPL): यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (UPPL) असम की एक क्षेत्रीय पार्टी है. पार्टी का मुख्यालय कोकराझार शहर में है. पार्टी को बोडोलैंड प्रादेशिक क्षेत्र में महत्वपूर्ण समर्थन प्राप्त है. यूपीपीएल (United People’s Party Liberal) का गठन 5 अगस्त 2015 को हुआ था और इसका पुराना नाम पीपुल्स को-ऑर्डिनेशन फॉर डेमोक्रेटिक राइट (पीसीडीआर) था. पार्टी का गठन जाति, पंथ और धर्म से ऊपर उठकर लोगों के कल्याण के लिए काम करने की विचारधारा के साथ किया गया था।

इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (IPFT): इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा भारत के त्रिपुरा में एक क्षेत्रीय राजनीतिक दल है। यह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन और उत्तर-पूर्व लोकतांत्रिक गठबंधन का सदस्य है। पार्टी का 2001 में इंडिजिनस नेशनलिस्ट पार्टी ऑफ त्रिपुरा में विलय हो गया था, हालांकि 2009 में अलग हो गई।

नेशनल पीपुल्स पार्टी, मेघालय (NPP): नेशनल पीपुल्स पार्टी भारत में एक राष्ट्रीय स्तर की राजनीतिक पार्टी है, हालांकि इसका प्रभाव ज्यादातर मेघालय राज्य में केंद्रित है। पार्टी की स्थापना पीए संगमा ने जुलाई 2012 में एनसीपी से निष्कासन के बाद की थी। इसे 7 जून 2019 को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा दिया गया था।

यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (United Democratic Party):

यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (United Democratic Party) मेघालय राज्य में एक राजनीतिक दल है. अब इसका नेतृत्व मेटबाह लिंगदोह कर रहे हैं। इसकी शुरुआत ई. के. मावलोंग ने की थी।  पार्टी का झंडा तीन ऊर्ध्वाधर रंगों का होगा, जिसमें ध्वज स्तंभ के सबसे नजदीक सबसे बाईं ओर लाल रंग, सबसे दाईं ओर तोता हरा रंग और मध्य में सफेद रंग क्रमशः साहस, वीरता और बलिदान (स्कार्लेट लाल) का प्रतीक होगा. ईमानदारी, ईमानदारी, अखंडता (सफेद) और आशा, कड़ी मेहनत, अस्तित्व (हरा) .

हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (HSPDP): हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (एचएसपीडीपी) पूर्वोत्तर भारत के मेघालय राज्य में सक्रिय एक क्षेत्रीय राजनीतिक दल है। 1968 मेंहोपिंगस्टोन लिंगदोह द्वारा ऑल पार्टी हिल लीडर्स कॉन्फ्रेंस से अलग होकर गठित, एचएसपीडीपी के पास 1972 में विधानसभा के पहले चुनावों के बाद सेमेघालय विधान सभा में प्रतिनिधि हैं।

मिजो नेशनल फ्रंट (MNF): भारत के मिज़ोरम में एक क्षेत्रीय राजनीतिक दल है। एमएनएफ मिज़ो राष्ट्रीय अकाल मोर्चा से उभरा, जिसका गठन 1959 में असम राज्य के मिज़ो क्षेत्रों में अकाल की स्थिति के प्रति भारत सरकार की निष्क्रियता के विरोध में पु लालडेंगा द्वारा किया गया था।

नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (NDPP):नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी भारतीय राज्य नागालैण्ड की एक क्षेत्रीय पार्टी है। चिंगवांग कोन्याक इसके अध्यक्ष हैं। अक्टूबर 2017 में डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी का नाम बदल कर नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी हुआ तथा पार्टी का गठन हुआ।

नागा पीपुल्स फ्रंट (NPF): नागा पीपुल्स फ्रंट भारत का एक क्षेत्रीय दल है, जो भारतीय राज्य नागालैण्ड और मणिपुर में सक्रिय है। यह दल डेमोक्रेटिक एलाइंस ऑफ नागालैण्ड का हिस्सा रहते हुए नागालैण्ड में 2003 से भारतीय जनता पार्टी के साथ सरकार चला रहा है। शुरहोजेलि लियोजित्सु इस दल के अध्यक्ष हैं।

सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (SKM) : सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (Sikkim Krantikari Morcha), सिक्किम में एक राजनीतिक दल है जो 2019 से सिक्किम की सत्तारूढ़ पार्टी भी है. पी.एस. सिक्किम विधान सभा के सदस्य गोले, सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (SDF) के प्रमुख व्यक्तियों में से एक थे और सिक्किम सरकार में मंत्री थे. दिसंबर 2009 से वह एसडीएफ के अध्यक्ष और सिक्किम के पूर्व मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग के मुखर आलोचक रहे हैं. उन्होंने 4 फरवरी 2013 को सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा पार्टी की शुरुआत की. गोले 28 मई 2019 को सिक्किम के मुख्यमंत्री बने, इस प्रकार चामलिंग के 25 साल के शासन का अंत हुआ.

गोरखा नेशनल लिबरेशन फ्रंट (GNLP): गोरखालैंड आंदोलन के नेता सुभाष घीसिंग द्वारा 1980 में स्थापित जीएनएलपी 2019 से दार्जिलिंग पहाड़ियों में भाजपा की दीर्घकालिक सहयोगी रही है। गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के भाजपा से अलग होकर 2021 में तृणमूल कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के बाद से जीएनएलपी का समर्थन भाजपा के लिए और भी महत्वपूर्ण हो गया है।

जनता दल यूनाइटेड (JDU): जनता दल-यूनाइटेड जद-यू का प्रभाव मुख्य रूप से बिहार और झारखंड में है। इस समय राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस के सहयोग से जद-यू बिहार की सत्ता पर काबिज है। पार्टी का गठन 30 अक्टूबर 2003 को जनता दल के शरद यादव गुट, लोकशक्ति पार्टी और समता पार्टी के विलय के बाद किया गया था। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पार्टी के बड़े नेता और चेहरा हैं।

इस बार अकेले चुनाव लड़ने वाली पार्टियों में से 4 दक्षिण भारत की हैं. इनमें YSR कांग्रेस, भारत राष्ट्र समिति (BRS),ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) और AIADMK हैं, जबकि उत्तर भारत के में बीजू जनता दल (BJD), बहुजन समाज पार्टी (BSP), AIUDF और शिरोमणि अकाली दल (SAD) किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं हैं।