Hindi Newsportal

‘अंतिम चुनाव’ वाले बयान पर जेडीयू की सफाई, कहा- कहीं नहीं जानें वाले नितीश कुमार

File Image
0 372

बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के बीते दिन ‘अंतिम चुनाव’ वाले बयान पर जनता दल यू ने सफाई दी है। उनके इस बयान के बाद मचे सियासी बवाल के बाद प्रदेश अध्‍यक्ष वशिष्‍ठ नारायण ने कहा कि नीतीश कुमार के ‘अंतिम चुनाव’ कहने का मतलब अं‍तिम चुनाव प्रचार या अंतिम चुनावी सभा थी। उन्‍होंने कहा कि इस बयान को लेकर विपक्षी बड़ा रस ले रहे हैं लेकिन सच यह है कि नीतीश कुमार कहीं नहीं जाने वाले हैं। वह रिटायर होने के बारे में सोच भी नहीं सकते।

आज भी नीतीश करते है 13 से 14 घंटे काम – प्रदेश अध्‍यक्ष वशिष्‍ठ नारायण।

नितीश के इस बयान के बाद मचे सियासी जंग के बाद प्रदेश अध्‍यक्ष वशिष्‍ठ नारायण ने सफाई देते हुए कहा कि आज भी नीतीश 13 से 14 घंटे लगातार काम करते हैं। उनकी कार्यक्षमता पर कोई सवाल नहीं उठा सकता। इसके साथ उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि असल में विपक्ष के नेता सतही जानकारी के आधार पर चुनाव लड़ रहे हैं। उनके पास न कोई योजना है न कोई दृष्टि।

जेडीयू के प्रवक्‍ता अजय आलोक ने भी दी सफाई।

नितीश के इस बयान के बाद जेडीयू के प्रवक्‍ता अजय आलोक ने भी नीतीश कुमार के ‘अंतिम चुनाव’ वाले बयान का आशय स्‍पष्‍ट किया। उन्‍होंने कहा कि ‘अंतिम चुनाव’ का मतलब ‘अंतिम चुनाव प्रचार’ था। नीतीश जी कहीं नहीं जाने वाले हैं। इस बात का तिल का ताड़ बनाने की जरूरत नहीं है। नीतीश जी ने 2004 के बाद कोई चुनाव नहीं लड़ा यह तो सबसे ज्‍यादा विपक्ष के नेता ही कहते हैं। तो फिर उनके लिए अंतिम चुनाव का क्‍या मतलब है।

ये भी पढ़े : Bihar Election 2020: RJD प्रत्याशी की हरकत से मंच पर भड़के तेजस्वी यादव, बीच भाषण को छोड़कर जनसभा से निकले

क्या कहा था नितीश कुमार ने।

दरअसल सीएम नीतीश कुमार बीते दिन पूर्णिया के धमदाहा में एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उसी दौरान नीतीश कुमार ने कहा था, ‘‘आज चुनाव प्रचार का अंतिम दिन है. परसों मतदान है और यह मेरा अंतिम चुनाव है। अंत भला तो सब भला।’ नीतीश के इस बयान के बाद बिहार की राजनीति में भूचाल आ गया था और विपक्ष उन पर हमलावर हो गया।

तेजस्वी यादव समेत चिराग पासवान ने भी किया था कटाक्ष।

महागठबंधन की ओर से सीएम कैंडिडेट तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा, ‘आदरणीय नीतीश जी बिहारवासियों की आकांक्षाओं, अपेक्षाओं के साथ-साथ ज़मीनी हकीकत भी स्वीकार करने को तैयार नहीं थे। हम शुरू से कहते आ रहे है कि वो पूर्णत: थक चुके हैं और आज आखिरकार उन्होंने अंतिम चरण से पहले हार मानकर राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा कर हमारी बात पर मुहर लगा दी।’

चिराग पासवान ने भी कसा था ये तंज ।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram