Hindi Newsportal

राष्ट्रपति कोविंद का राष्ट्र के नाम संदेश, कहा – हर माता-पिता से मेरी अपील, वह होनहार बेटियों के परिवारों से ले प्रेरणा

0 485

देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस की तैयारी पूरी कर ली गई है। देश के 75 वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर शनिवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्र को संबोधित किया है। देश की आजादी के 75वें वर्षगांठ पर यह संबोधन ऐसे समय में हुआ जब देश दूसरे साल भी कोविड महामारी से जूझ रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि इस वर्ष के स्वाधीनता दिवस का विशेष महत्व है। इस ऐतिहासिक अवसर पर सभी को बधाई।

सशस्त्र बलों के वीर जवानों की सराहना की।

अपने सम्बोधन में राष्ट्रपति ने कहा कि मैं विशेष रूप से भारतीय सशस्त्र बलों के वीर जवानों की सराहना करता हूं, जिन्होंने हमारी स्वतंत्रता की रक्षा की है, और आवश्यकता पड़ने पर सहर्ष बलिदान भी दिया है।

टोक्यो ओलंपिक में हमारे खिलाड़ियों ने गौरव बढ़ाया है: राष्ट्रपति।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि हाल ही में संपन्न टोक्यो ओलंपिक में हमारे खिलाड़ियों ने अपने शानदार प्रदर्शन से देश का गौरव बढ़ाया है।

हर माता-पिता से आग्रह है कि होनहार बेटियों के परिवारों से लें सीख ।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि मैं हर माता-पिता से आग्रह करता हूं कि वे होनहार बेटियों के परिवारों से शिक्षा लें और अपनी बेटियों को भी आगे बढ़ने के अवसर प्रदान करें।

कोरोना वायरस का प्रभाव अभी समाप्त नहीं हुआ।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि हालांकि महामारी की तीव्रता में कमी आई है लेकिन कोरोना वायरस का प्रभाव अभी समाप्त नहीं हुआ है। हर तरह के जोखिम उठाते हुए, हमारे डॉक्टरों, नर्सों, स्वास्थ्य कर्मियों, प्रशासकों और अन्य कोरोना योद्धाओं के प्रयासों से कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पाया जा रहा है।

सभी देशवासी से अपील भी।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि मैं सभी देशवासियों से आग्रह करता हूं कि वे प्रोटोकॉल के अनुरूप जल्दी से जल्दी वैक्सीन लगवा लें और दूसरों को भी प्रेरित करें।

स्वास्थ्य सुविधाओं पर एक वर्ष की अवधि में ही 23,220 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि यह तथ्य संतोषजनक है कि चिकित्सा सुविधाओं के विस्तार के लिए एक वर्ष की अवधि में ही 23,220 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं।

सभी बाधाओं के बावजूद ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहा विकास।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि मुझे इस बात की खुशी है कि सभी बाधाओं के बावजूद ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष रूप से कृषि के क्षेत्र में बढ़ोतरी जारी रही है।

‘ईज ऑफ डुइंग बिजनेस’ का प्रभाव ‘ईज ऑफ लिविंग’ पर।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि जब ‘ईज ऑफ डुइंग बिजनेस’ की रैंकिंग में सुधार होता है, तब उसका सकारात्मक प्रभाव देशवासियों की ‘ईज ऑफ लिविंग’ पर भी पड़ता है।

अब जम्मू-कश्मीर में नव-जागरण दिखाई दे रहा।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि अब जम्मू-कश्मीर में नव-जागरण दिखाई दे रहा है। सरकार ने लोकतंत्र और कानून के शासन में विश्वास रखने वाले सभी पक्षों के साथ परामर्श की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

जलवायु की रक्षा के लिए भारत प्रतिबद्ध।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि हमारे लिए गर्व की बात है कि भारत ने, न केवल पेरिस जलवायु समझौते का पालन किया है, बल्कि जलवायु की रक्षा के लिए तय की गई प्रतिबद्धता से भी अधिक योगदान कर रहा है।

सरकार का ‘गगनयान मिशन’ सबसे खास।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि सरकार ने इस विशेष वर्ष को स्मरणीय बनाने के लिए कई योजनाओं का शुभारम्भ किया है। ‘गगनयान मिशन’ उन अभियानों में विशेष महत्व रखता है।

लोकतंत्र का मंदिर नए भवन में स्थापित होने जा रहा।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि हमारा लोकतन्त्र संसदीय प्रणाली पर आधारित है, अतः संसद हमारे लोकतन्त्र का मंदिर है। यह सभी देशवासियों के लिए बहुत गर्व की बात है कि हमारे लोकतंत्र का यह मंदिर निकट भविष्य में ही एक नए भवन में स्थापित होने जा रहा है।

कोरोना वारियर को मेरा सलाम।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram