Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: फिल्टर्स से एडिट कर बनाया गया शिवसेना नेता संजय राउत के रोने वाला यह वीडियो, जाने पूरा सच

0 638

फैक्ट चेक: फिल्टर्स से एडिट कर बनाया गया शिवसेना नेता संजय राउत के रोने वाला यह वीडियो, जाने पूरा सच

 

सोशल मीडिया पर शिवसेना पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय राउत का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा हैं, 10 सेकंड के इस वीडियो में संजय राउत से कोई कुछ सवाल कर रहा है, और इसी दौरान वह वीडियो में रोते हुए दिखाई दे रहे हैं। दरअसल बीते कुछ दिनों से महाराष्ट्र में ठाकरे सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। बता दें उनकी सरकार में मंत्री एक नाथ शिंदे उनकी पार्टी के कुछ विधायकों के साथ असम में डेरा जमाए हुए हैं, जिससे ठाकरे सरकार के भांग होने की कयास लगाई जा रही है। वहीं शिवसेना नेता संजय राउत से ED भी पूछताछ कर रही है। ऐसे में सोशल मीडिया इस वीडियो को शेयर संजय राउत पर तंज कैसा जा रहा है। फसेबूक पर इस वीडियो के साथ यह ‘#भक्तो रुला दिया ना नॉटी को !! बस निकाल गयी हवा’ कैप्शन लिखकर शेयर किया जा रहा है।  

 

 

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

 

फैक्ट चेक: 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो को देखने पर हमें इसके एडिटेड होने किन आशंका हुई जिसके चलते हैं हमने वीडियो की सच्चाई जानने के लिए पड़ताल की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वीडियो को InVid टूल की सहायता से कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। लेकिन खोज में मिले परिणामों में हमें कहीं भी वायरल वीडियो से संबंधित कोई जानकारी नहीं मिली। इसलिए वीडियो की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने गूगल पर कीफ्रेम्स के साथ साथ कुछ कीवर्ड्स का भी इस्तेमाल किया।

इस दौरान हमें ‘आज तक’ न्यूज़ के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो। जहां वायरल वीडियो क्लिप का पूरा वीडियो अपलोड किया गया था।

उपरोक्त प्राप्त वीडियो को देखने पर हमने जाना कि वायरल वीडियो एडिट कर बनाया गया है, क्योंकि आज तक के यूट्यूब चैनल पर प्राप्त वीडियो में वह कहीं भी हमें रोते हुए नजर नहीं आ रहे हैं। नीचे दी गयी तुलना में फर्क साफ़ साफ़ देखा जा सकता है।

आज तक पर प्राप्त वीडियो से 

 

वायरल वीडियो से 

वायरल वीडियो और आज तक के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर प्राप्त वीडियो को देखने पर हमारा शक, यकीन में तब्दील होने लगा कि वायरल वीडियो एडिटेड है। पड़ताल के दौरान हमें इंस्टाग्राम के रोने वाले फ़िल्टर के बारे में पता चला। जिसके बाद हमने यूट्यूब पर रोने वाले फ़िल्टर की जानकारी प्राप्त करने के लिए खोजना शुरू किया।

उपरोक्त यूट्यूब वीडियो में हम यह देख सकते हैं कि किस तरह से रोने वाला फ़िल्टर इस्तेमाल किया जा सकता है। हमने जाना कि वायरल वीडियो भी इसी फ़िल्टर के माध्यम से बनाया गया है।

पड़ताल के दौरान उपरोक्त मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो एडिटेड है जिसे इंस्टाग्राम और स्नैपचैट पर मनोरंजन के लिए दिए गए रोने वाले फ़िल्टर के इस्तेमाल से बनाया गया है।