Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: प्रसिद्ध फिजिक्स प्रोफेसर ‘एचसी वर्मा’ को लेकर वायरल हुई भ्रामक पोस्ट, पीएम फण्ड में नहीं दान किया कोई फण्ड , पढ़ें पूरी खबर

0 759

फैक्ट चेक: प्रसिद्ध फिजिक्स प्रोफेसर ‘एचसी वर्मा’ को लेकर वायरल हुई भ्रामक पोस्ट, पीएम फण्ड में नहीं दान किया कोई फण्ड , पढ़ें पूरी खबर

 

सोशल मीडिया पर फिजिक्स के प्रसिद्ध प्रोफेसर ‘एचसी वर्मा’ को लेकर एक पोस्ट वायरल हो रही है। पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि प्रोफेसर एचसी वर्मा ने ‘Concepts Of Physics’ नामक एक पुष्तक प्रकाशित की है, जिसके रॉयलटी के तौर पर प्रोफेसर को ‘एक करोड़’ रुपये प्रतिवर्ष मिलते हैं। पोस्ट में आगे यह भी दावा किया जा रहा है कि प्रोफेसर यह सारा पैसा पीएम केयर फण्ड व धमार्द संस्थाओं में दान कर देते हैं।

फेसबुक पर प्रोफेसर HC Verma की एक तस्वीर शेयर कर लिख जा रहा है,” Salute to an Unknown Hero. IIT-Kanpur professor Mr. HC Verma receives Rs. 1 Crore as royalty every year for his book Concepts of Physics, which he donates to charitable organizations and pays the fees of many poor students. PS: He still uses his old Bajaj scooter for commuting. 

हिंदी अनुवाद:

एक अनजान हीरो को सलाम। आईआईटी-कानपुर के प्रोफेसर श्री एच.सी. वर्मा को उनकी पुस्तक कॉन्सेप्ट ऑफ फिजिक्स के लिए हर साल 1 करोड़ रुपए की रॉयल्टी के रूप में, जिसे वह धर्माद संगठनों को दान करते हैं और कई गरीब छात्रों की फीस का भुगतान करते हैं। पुनश्च: वह अभी भी आने-जाने के लिए अपने पुराने बजाज स्कूटर का उपयोग करता है।

 

फेसबुक पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक: 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में पता चला कि वायरल दावा गलत है, एचसी वर्मा ने किसी भी तरह का कोई फण्ड पीएम केयर फण्ड में दान नहीं किया। 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल की. पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले कुछ संबंधित कीवर्ड्स के माध्यम से गूगल पर खोजना शुरू किया। जिसके बाद हमें वायरल दावा ट्विटर पर भी Nishant Singh नामक यूजर द्वारा साल 2018 में किए गए एक पोस्ट में मिला।

उपरोक्त प्राप्त पोस्ट में भी वर्तमान वाला वायरल दावा ही पोस्ट किया गया था। प्राप्त पोस्ट से हमें जानकारी मिली वायरल दावा कई वर्ष पूर्व में भी वायरल था। इसलिए वायरल पोस्ट की सत्यता जानने के लिए हमने बारीकी से तथ्यों को गूगल पर खंगालना शुरू किया। जिसके बाद हमें फेसबुक पर भी कुछ पोस्ट भी मिले, जिसे पूर्व में ही पोस्ट किया गया था।

खोज के दौरान हमें प्रोफेसर  एचसी वर्मा द्वारा ही अपलोड किया गया एक फेसबुक पोस्ट प्राप्त हुआ। जिसे उन्होंने अप्रैल 13, 2018 को पोस्ट किया गया था। पोस्ट में उन्होंने वायरल दावे पर सफाई देते हुए बताया था कि वायरल दावा गलत है।

 

पोस्ट में उन्होंने लिखा कि प्रिय दोस्तों, मुझे एक ट्विटर पोस्ट के बारे में पता चला कि मैं रॉयल्टी की 1 करोड़ कमाता हूं और पूरा पैसा पीएम राहत कोष में दान करता हूं। काश मैं वह कर सकता। मैं जानकारी को स्पष्ट रूप से अस्वीकार करना चाहता हूं। पोस्ट में एक स्कूटर की फोटो भी दिखाई गई है। मेरे पास इस रंग और मेक का स्कूटर कभी नहीं था। मैं आप में से सिर्फ एक हूं, एक आम आदमी और एक फिजिक्स लर्नर हूँ ।

 

पड़ताल के दौरान उपरोक्त मिले तथ्यों से हमें पता चला कि वायरल दावा भ्रामक है। वायरल पोस्ट पिछले कई सालों में भी वायरल हो चुका है, इस पोस्ट को लेकर प्रोफेसर एचसी वर्मा ने खुद सफाई देते हुए इसे गलत बताया है।