Hindi Newsportal

वैज्ञानिकों के दावे के बाद WHO ने स्वीकारा- हवा से फ़ैल सकता है कोरोना

0 290

दुनिया के 32 देशों के 200 से अधिक वैज्ञानिकों ने अपनी रिसर्च में हाल ही में दावा किया था की कोरोना एयरबोर्न हो चूका है यानी कोविड-19 का वायरस हवा से फैल रहा है जिसपर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने माना है कि कोरोना वायरस हवा से भी फैल सकता है. विश्व स्वस्थ्य संगठन ने माना की इस बात से बिलकुल इंकार नहीं किया जा सकता। इसमें मिलने वाले सबूतों को संज्ञान में लिया है जिनके आधार पर दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस हवा से भी फैल सकता है।

दरअसल 32 देशों के 200 से अधिक वैज्ञानिकों ने अपनी रिसर्च में पाया कि नोवेल कोरोना वायरस के छोटे-छोटे कण हवा में भी मौजूद रहते हैं और ये लोगों को संक्रमित कर सकते हैं। इसके बाद WHO से अपने दिशा-निर्देशों में इसे शामिल करने के लिए संशोधन की मांग की गई थी।

विश्व स्वास्थ्य संगठन में कोविड-19 की विशेषज्ञ डॉ. मरिया वान केरखोव ने कहा कि हम एयरबोर्न ट्रांसमिशन और एयरोसोल ट्रांसमिशन की संभावना से इनकार नहीं कर सकते हैं। WHO ने पहली बार हवा के जरिये कोरोना वायरस के फैलने की आशंका को स्वीकार करते हुए कहा है कि वह जल्द ही संशोधित वैज्ञानिक सार जारी करेगा।

डॉ. मरिया वान केरखोव ने कहा “हम हवा के रास्ते और मुंह तथा नाक से निकलने वाले बेहद सूक्ष्म जलकणों से वायरस के फैलने की संभावना की बात करते रहे हैं। हम मौजूदा साक्ष्यों के आधार पर एक वैज्ञानिक सार तैयार कर रहे हैं। हम कई सप्ताह से इस पर काम कर रहे हैं।”

ये भी पढ़े: बारिश से गुजरात हुआ तरबतर, अगले 24 घंटे इन राज्यों में होगी मूसलाधार बारिश; देखे मौसम के लाइव अपडेट्स

वहीं, WHO की विशेषज्ञ बेनेडेटा एलेग्रांजी ने मंगलवार को नियमित मीडिया ब्रीफिंग में न्यूयॉर्क टाइम्स इसे स्वीकार करते हुए WHO ने कहा, “हम स्वीकार करते हैं कि कोरोना वायरस और महामारी से जुड़े अन्य क्षेत्रों की तरह इस संबंध में भी नये साक्ष्य सामने आ रहे हैं। हमारा मत है कि हमें इस साक्ष्य पर खुले दिमाग से विचार कर वायरस के संक्रमण के तौर-तरीकों के संदर्भ में उसके प्रभाव और इस लिहाज से जरूरी सावधानियों को समझना चाहिए।”

आपको बता दे कि दुनिया में अब तक 1 करोड़ 18 लाख 37 हजार 245 लोग कोरोना इन्फेक्शन की चपेट में आ चुके हैं जबकि 67 लाख 99 हजार 677 लोग ठीक हो चुके हैं। जबकी भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 7,19,665 पुष्ट मामले है और रूस को पीछे छोड़ते हुए भारत दुनियाभर में तीसरे नंबर पर पहुंच चुका है। देशभर में कुल 7,19,665 पॉज़िटिव मामलों में से 2,79,717 सक्रिय मामले हैं।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram