Hindi Newsportal

मेहुल चोकसी की एंटिगुआ नागरिकता होगी रद्द, लाया जाएगा भारत

0 459

भारत सरकार को एक बड़ी सफलता हाथलगी है. भारत के लगातार दबाव बनाए जाने के बाद, अब एंटिगुआ में रह रहे पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में आरोपी मेहुल चोकसी को भारत वापस लाया जा सकेगा.

एंटिगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने बयान दिया है कि वह जल्द ही मेहुल चोकसी की नागरिकता रद्द करने वाले हैं. उन्होंने कहा है कि को पहले यहां की नागरिकता मिली हुई थी, लेकिन अब इसे रद्द किया जा रहा है. उन्होंने आगे कहा कि हम अपने देश में किसी ऐसे व्यक्ति को नहीं रखेंगे जिस पर किसी भी प्रकार के आरोप लगे हुए हो.

ब्राउन ने आगे कहा कि चोकसी से जुड़ा पूरा मामला अब कोर्ट में है, जिसकी स्थिति को लेकर सारी जानकारी भारत सरकार को दी जा चुकी है. उन्होंने कहा कि चोकसी के मामले में सभी कानूनी कार्रवाई पूरी होने के बाद ही उसे भारत सरकार को प्रत्यर्पित किया जाएगा.

हालांकि भारत को अभी तक चोकसी की नागरिकता रद्द होने की कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली है, जिसके कारण भारत अपनी ओर से प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू करने से पहले एंटिगुआ की सारी कानूनी प्रक्रिया ख़त्म होने का इंतज़ार कर रहा है.

बता दें कि भारत चौकसी के प्रत्यर्पण के लिए लगातार कोशिश में है. कुछ दिन पहले ही जांच के लिए भारत आने से इनकार करते हुए चोकसी ने कहा था कि वह स्वास्थ्य कारणों से भारत यात्रा नहीं कर सकता, लेकिन जांच में मदद करने के लिए तैयार हैं, जिसके बाद जांच एजेंसियों ने चोकसी के बीमार होने के दावे पर एयर ऐम्बुलेंस के जरिए वापस लाने का प्रस्ताव भी दिया था.

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के तहत नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर 13 हजार करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप था. ये मामला 2018 में सामने आया था, जिसके बाद से ही विपक्ष इसको लेकर सरकार पर हमलावर रहा है.

ALSO READ: दो राज्यसभा सीटों पर एक साथ चुनाव कराने की कांग्रेस याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने…

मेहुल चोकसी को कई बार सरकार, एजेंसियों और अदालत की तरफ से समन भेजा गया था, लेकिन उसने हर बार यह कहकर आने से मन कर दिया कि यदि वह भारत आता है तो ऐसे में उसकी लिंचिंग कर दी जाएगी.

हालांकि अब एंटिगुआ की नागरिकता रद्द किए जाने के बाद, उसके पास भारत लौटने के अलावा कोई और विकल्प नहीं बचा है.

आने से मना किया. मेहुल चोकसी का तर्क था कि अगर वह हिंदुस्तान आएगा तो उसकी लिंचिंग कर दी जाएगी. हालांकि, अब जब एंटिगुआ ने ही उसकी नागरिकता रद्द करने का फैसला कर लिया है तो उसे भारत वापस आना ही होगा.