Hindi Newsportal

मायावती ने बुलाई बड़ी बैठक, उपचुनावों और 2022 विधानसभा चुनावों की रणनीति पर चर्चा

0 362

चुनावों के नतीजों में पार्टी की दशा देखने के बाद बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती, पार्टी को मजबूत बनाने के लिए कुछ अहम बदलाव पार्टी में करने जा रही है. इस मकसद को ध्यान में रखते हुए उन्होंने रविवार को सभी बसपा पदाधिकारियों को अपने घर एक बैठक में बुलाया है.

मीटिंग में शामिल होने के लिए बसपा के राष्ट्रीय और प्रदेश नेतृत्व के सभी पदाधिकारी और जोनल कोऑर्डिनेटर उनके घर पर पहुंच चुके है.

2019 में ही उत्तर प्रदेश की 12 सीटों पर उपचुनाव होने वाले है, जिस दौरान पार्टी की क्या रणनीति रहेगी, यह आज की इस बैठक का केंद्र रहेगा. इसके साथ ही 2022 में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों को साधना की रणनीति पर बात करना भी पार्टी मीटिंग का लक्ष्य रहेगा.

बताया जा रहा है कि मीटिंग में पार्टी के विस्तार और कुछ अहम बदलावों को लेकर भी चर्चा की जा सकती है.

बसपा उपचुनाव के सहारे 2022 के विधानसभा चुनाव का रास्ता तैयार करने की तैयारी में जुट गई है. मायावती इस दिशा की ओर काम कर सकती हैं कि यदि बसपा होने वाले उपचुनावों में अच्छा प्रदर्शन दिखाती है तो ऐसे में उसके लिए 2022 के विधानसभा चुनाव साधना मुश्किल नहीं होगा.

ALSO READ: मेनका, वरुण गांधी ने संजय गांधी को उनकी 39 वीं पुण्यतिथि पर दी श्रद्धांजलि

इस मीटिंग द्वारा मायावती होने वाले उपचुनावों को साधने के लिए पार्टी के माद्दे को भी परख सकती है, जिसके आधार पर ही वे सपा के साथ गठबंधन की वार्ता को किसी मोड़ पर ले जा सकती है.

यदि उन्हें अपनी पार्टी किसी भी स्तर पर कमज़ोर लगती है तो ऐसे में सपा के साथ गठबंधन के विकल्प पर उन्होंने पूरी तरह विराम नहीं लगाया है. हालांकि उन्होंने पहले यह स्पष्ट तौर पर कहा था कि बसपा उपचुनाव अकेले ही लड़ेगी.

बता दें कि 2019 लोकसभा चुनावों में बहुजन समाजवादी पार्टी और समाजवादी पार्टी ने गठबंधन में रहकर चुनाव लड़ा था, जिसके बाद भी दोनों पार्टियाँ संतोषजनक मात्रामें वोट बटोरने में नाकामयाब रही थी. बसपा ने जहां उत्तर प्रदेश की 80 सीटों में से केवल 10 सीटें अपने नाम की, वहीं सपा केवल पांच सीटों पर जीत दर्ज कर सकी.