Hindi Newsportal

कारगिल के 20 साल, लेह में बीटिंग रिट्रीट समारोह का आयोजन कर शहीदों को दी श्रधांजली

0 940

21 अप्रैल, 2019 में कारगिल युद्ध के 20 साल पूरे होने पर, भारतीय सेना ने शनिवार को लेह के हॉल ऑफ फेम में बीटिंग रिट्रीट समारोह का आयोजन किया, जो युद्ध में अपनी जान गंवाने वालों शहीदों को श्रधांजली अर्पित करने के लिए रखा गया था.

लेफ्टिनेंट जनरल वाईके जोशी,”फायर एंड फ्यूरी” कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इस समारोह के मुख्य अतिथि थे. समारोह में लद्दाख क्षेत्र के कई गणमान्य नागरिकों और सैन्य अधिकारियों ने शिरकत की.

समारोह की शुरुआत ‘बीटिंग द रिट्रीट सेरेमनी’ के साथ हुई, जिसके बाद सेरेमोनियल गार्ड ने अनेक संगीत वाद्ययंत्र द्वारा अपनी अनूठी कला का प्रदर्शन किया. इस कार्यक्रम को स्थानीय लोगों ने भी उत्साह के साथ देखा और स्थानीय लोगों और सेना के बीच संबंध को मजबूत करने का एक शानदार अवसर प्रदान किया.

लेह में हॉल ऑफ फेम की स्थापना 1986 में, लद्दाख में विभिन्न सैन्य अभियानों के दौरान भारतीय सेना की वीरता, बलिदान और उपलब्धियों को प्रदर्शित करने के लिए की गई थी, जिसमें क्षेत्र की संस्कृति और विरासत को प्रदर्शित किया गया है.

पिछले तीन दशकों में, यह स्मारक घरेलू और विदेशी पर्यटकों के लिए एक प्रमुख आकर्षण बन गया है.

ALSO READ: भारतीय वायुसेना ने ‘वीर चक्र’ के लिए रखा विंग कमांडर अभिनंदन के नाम का…

मई-जुलाई 1999 में, जम्मू-कश्मीर के कारगिल जिले और नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर स्थित अन्य जगहों पर भारत और पाकिस्तान के बीच एक सशस्त्र संघर्ष हुआ था.

पाकिस्तानी सैनिकों और कश्मीरी आतंकवादियों द्वारा कारगिल क्षेत्र में घुसपैठ को रोकने के लिए भारत ने ‘ऑपरेशन विजय’ की शुरुआत की थी.

26 जुलाई, 1999 को युद्ध समाप्त हुआ और तब से कारगिल युद्ध के नायकों के सम्मान में प्रतिवर्ष इसे विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है.