Hindi Newsportal

उदयपुर हत्याकांड में आरोपियों के पाकिस्तान से जुड़े होने के संकेत

0 345

जयपुर: उदयपुर में दर्जी कन्हैया लाल की भीषण हत्या ने पूरे राज्य में कोहराम मचा दिया है. पुलिस ने मुख्य आरोपी के पाकिस्तान स्थित समूह के साथ संबंधों की पुष्टि की.

 

राजस्थान डीजीपी एम.एल. लाठर ने मामले को संज्ञान में लेते हुए कहा, कि अभी तक की पूछताछ में सामने आया है कि ये लोग (मामले में मुख्य आरोपी) दावत-ए-इस्लामी नाम की संस्था से संपर्क में थे. इस प्रकरण को प्रारंभ से ही एक्ट ऑफ टेरर मानते हुए UAPA के अंतर्गत अभियोग पंजीबद्ध किया गया. NIA भी हमारे अनुसंधान में जुड़ गए.

 

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुष्टि की कि एनआईए ने मामले को अपने हाथ में ले लिया है.

 

एनआईए ने यूएपीए एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की है. एक महानिरीक्षक और एक उप महानिरीक्षक (डीआईजी) रैंक के अधिकारियों की देखरेख में एनआईए की चार सदस्यीय टीम कल रात उदयपुर पहुंचने के बाद घटना का विवरण ले चुकी है.

 

राजस्थान के डीजीपी एमएल लाठेर ने कहा कि “एएसआई और एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है क्योंकि उन्होंने इस घटना के होने से पहले पीड़ित क्षेत्र में पहले से ही ध्रुवीकृत स्थिति को शांत करने के लिए आवश्यक कार्रवाई नहीं की थी”.

 

सीएम गहलोत ने एक ट्वीट में पुष्टि की कि “आज उदयपुर की घटना पर एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक हुई. पुलिस अधिकारियों ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि घटना प्रथम दृष्टया आतंक फैलाने के उद्देश्य से की गई थी.

 

पुलिस, एनआईए, एसआईटी, एफएसएल और एटीएस की टीमें उदयपुर में मौके पर पहुंची. जहां कन्हैया लाल की हत्या कर दी गई थी.