Hindi Newsportal

उत्तरप्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार जारी, हाल – फिलहाल में दर्ज हुए इन बड़े अपराधों से फिर उठा महिला सुरक्षा पर सवाल

Rep Img
0 356

उत्तरप्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। दरअसल उत्तरप्रदेश में ही बीतें 24 घंटों में महिला अत्याचार के 4 अलग – अलग जिले से ऐसे मामले सामने आये है जिसने महिला सुरक्षा को लेकर फिर योगी सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है। हालाकिं आज ही प्रदेश के मुख्यमंत्री ने आज ही इन मामलों पर सख्ताई से एक्शन का निर्देश दिया है लेकिन महिलाओं के साथ हुई इन घटनाओं ने प्रदेश के लोगों को सेहमा दिया है।

पहला मामला – गोंडा।

मामला है यूपी के गोंडा जिले का जहाँ तीन बहनों पर एसिड अटैक की बड़ी घटना सामने आई है।ये हादसा तब हुआ जब तीनो बहनें सो रही थी। अब घटना का पता चलते ही इलाके में सनसनी फैल गई। दरअसल मामला परसपुर थाना क्षेत्र के पक्का गांव का है। जहाँ तीन बहनों पर एक दबंग युवक ने तेजाब फेंक दिया। एसिड अटैक में बड़ी बहन गंभीर रूप से झुलस गई। वहीं बाकी दो छोटी बहनों पर भी तेजाब के छींटे पड़े। आनन-फानन में तीनों बहनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां पर बड़ी बहन का इलाज किया जा रहा है क्युकी एसिड अटैक में उसका चेहरा झुलस गया है। जबकि बाकी दो बहनों को अस्पताल में प्राथमिक उपचार दिया गया।

लोगों के मुताबिक तीनों बहने दलित है और तीनों की उम्र 8, 12 और 17 साल बताई जा रही है। जिला अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि एसिड अटैक में बड़ी बेटी 35 फीसदी झुलस चुकी है। दूसरी बेटी 25 और तीसरी बेटी पांच फीसदी झुलस गई। इस बात की जांच की जा रही है कि कौन से केमिकल का इस्तेमाल हुआ।

आरोपी हुआ गिरफ्तार।

इस मामले के उजागर होने के बाद सीएम योगी ने मंगलवार को मामले पर संज्ञान लेते हुए आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। गौरतलब है कि पुलिस ने एकाउंटर के बाद वारदात के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस दौरान आरोपी के पैर में गोली लगी और पास से हथियार भी बरामद किया गया। इधर एसिड हमले की शिकार बहनों का इलाज चल रहा है।

दूसरा मामला – हाथरस।

दूसरा मामला हाथरस जिले के ही एक गांव का है जहाँ चार साल की मासूम बच्ची से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के अनुसार बच्ची के ताऊ ने रिपोर्ट दर्ज कराते हुए कहा है कि बच्ची गांव में एक घर के बाहर खेल रही थी। इसी दौरान गांव का ही एक युवक अरविंद उर्फ भूरा बच्ची को टॉफी दिलाने के बहाने अपने साथ घर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। कुछ देर बाद रोती हुई बच्ची जब अपने घर पहुंची तो परिजनों को कुछ शंका हुई। उन्होंने बच्ची से पूछताछ की तो घटना का पता चला। इस पर परिजन बच्ची को लेकर अस्पताल पहुंचे और उपचार कराया।

तीसरा मामला – प्रतापगढ़।

तीसरा मामला उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के थाना बाघराय क्षेत्र का है जहाँ कथित तौर पर छेड़छाड़ से परेशान होकर एक लड़की ने कुएं में कूदकर आत्महत्या कर ली है। फिलहाल पुलिस ने मामले में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है।

चौथा मामला – चित्रकूट।

चौथा मामला उत्तरप्रदेश के चित्रकूट का है जहाँ कथित तौर पर एक नाबालिग लड़की ने गैंगरेप के बाद आत्महत्या कर ली, मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और दो पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया। चित्रकूट के सर्किल ऑफिसर(CO) के मुताबिक एससी/एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।”

इन मामलों के बाद जारी CM योगी का फरमान।

इधर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा, चित्रकूट एवं प्रतापगढ़ की घटनाओं का संज्ञान लेकर निर्देश दिए हैं कि प्रदेश में महिलाओं एवं बालिकाओं से सम्बन्धित अपराधों में तत्काल प्रभावी व कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

उन्होंने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि इस प्रकार के अपराधों के मामलों में वरिष्ठ अधिकारी तत्काल मौका मुआयना करें। जांच संबंधी कार्रवाइयां समय से पूरा करें। पीड़ित परिवारों की देखभाल करें और उन्हें तत्काल फौरी सहायता उपलब्ध कराएं। जहां सुरक्षा की आवश्यकता हो वहां तत्काल सुरक्षा उपलब्ध कराएं। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि जहां पर महिला संबंधी, बालिका संबंधी, दलित वर्ग से संबंधित बालिकाओं और महिलाओं के साथ अपराध के प्रकरण सामने आएं, वहां तत्काल घटना का संज्ञान लेकर मुकदमों को फास्ट ट्रैक कोर्ट व पॉक्सो कोर्ट में दाखिल करें और त्वरित न्याय सुनिश्चित कराएं।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram