Hindi Newsportal

अयोध्या में आज भव्य दीपोत्सव, साढ़े पांच लाख दीयों की रोशनी से रिकॉर्ड बनाते हुए जगमग होगी श्रीराम की नगरी

Image Credits - Ravi Kishan Twitter
0 429

अयोध्या में 492 साल बाद आज राम जन्मभूमि पर भव्य दीपोत्सव का सपना साकार होने जा रहा है। देश के लम्बे इंतज़ार के बाद अयोध्या में राम मंदिर की नीव तो रख दी गई है वही इस दीपोत्सव को लेकर तैयारी भी पूरी हो चुकी है। आज राम की नगरी अयोध्या में छोटी दीपावली के मौके पर दीपोत्सव मनाया जाएगा।

इस दौरान राम की पैड़ी के घाटों पर एक साथ पांच लाख 50 हजार से अधिक दीपक जलाकर नया गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड बनेगा। बता दे उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के मंदिर के सामने दीपक जलाकर विशेष पूजन करेंगे।

बनेगा विश्व रिकॉर्ड।

आज अयोध्‍या में 5.51 लाख दीये जलाकर दीपों की इस संख्या की मदद से न केवल अयोध्या अपने ही विश्व रिकॉर्ड को फिर से तोड़ने जा रहा है बल्कि इस दिन को पूरी तरीके से यादगार बनाने की भी योजना है। इतना ही नहीं दिवाली के इस मौके पर अद्भुत सरयू आरती का आयोजन भी किया जा रहा है।

दुल्हन की तरह सजी अयोध्या।

दीपोत्‍सव की तैयारी में अयोध्‍या नगरी दुल्‍‍‍‍हन की तरह सजाई गई है। बता दे कोरोना के टाइम में इस आयोजन में शामिल होने के लिए लोगों से सीमित संख्या में पहुंचने की अपील की थी। एक तरफ साकेत महाविद्यालय से भगवान राम के जीवन पर आधारित ग्यारह रथ एक साथ निकाले जा रहे हैं जिसमे इन रथों पर भगवान राम के जीवन पर आधारित अलग-अलग तरह की प्रदर्शनी लगाई गई हैं तो वही आज रात को भव्य दीपोत्सव से अयोध्या जग मग हो उठेगी।

ये भी पढ़े : Bihar Results: विधानसभा चुनाव के नतीजों पर तेजस्वी का EC पर आरोप, कहा- हम हारे नहीं, हमें हराया गया है

दीपोत्सव के अलावा ये भी है कार्यक्रम।

राम मंदिर के शिलान्यास के बाद यह अयोध्या की पहली दिवाली के मद्देनज़र इस बार सरयू नदी तट पर 5.5 लाख दीये जलाए जा रहे है जहाँ सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल दोपहर 3 बजे अयोध्या पहुंचने वाले हैं। इसके बाद राम, सीता और लक्ष्मण के वेश में कलाकार पुष्पक विमान से सरयू तट पर उतरेंगे। इस दौरान एक हेलीकॉप्टर को फूलों से सजाकर पुष्पक विमान का रूप दिया जाएगा।

इसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन और सीएम योगी आदित्यनाथ उनकी आगवानी करेंगे और आरती उतारेंगे। फिर भगवान राम की झांकी अयोध्या के साकेत कॉलेज से 5 किमी का मार्ग तय करके सरयू तट पर पहुंचेगी। इतना ही नहीं झांकी में गुरुकुल शिक्षा, राम-सीता विवाह, केवट प्रसंग, राम दरबार, सबरी राम मिलाप और लंका दहन की प्रस्तुति होगी जिसे देख के शायद सबका मन मोहित हो उठेगा। गौरतलब है कि ये प्रदर्शिनी 11 नवम्बर से प्रारम्भ होकर 30 नवम्बर तक चलेगी।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram