Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: सूटकेस में बंद प्रेमिका की लाश ले जा रहे प्रेमी के मामले में लव जिहाद का एंगल नहीं, पढ़ें पूरा सच

0 1,464

फैक्ट चेक: सूटकेस में ले रहे लड़की की लाश के मामले में नहीं है कोई लव जिहाद का मामला, पढ़ें पूरा सच

 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है, वीडियो एक युवक का है जो सूटकेस में एक लड़की की लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहा था, लेकिन स्थानीय लोगों द्वारा पकड़ा जाता है। जिसके बाद लोगों ने लड़के को पुलिस के हवाले करने के लिए वहीं बैठा लिया। वीडियो में मृत युवती की लाश को सूटकेस के अंदर देखा जा सकता है। इसी वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि मुस्लिम लड़के ने हिंदू लड़की को मारकर लव जिहाद को अंजाम दिया

 

फेसबुक पर इस वीडियो को शेयर कर लिखा गया है कि,’आज सुबह का एक और लव जिहाद । मेरा वाला अच्छा है प्यार करता है करेगा वह मुझसे यह कहने वाली लड़कियां अधिकतर हमने सूटकेस मैं देखी हैं या जो बच जाती हैं वह बाजारों में बेच दी जाती हैं हिंदू लड़कियों को कब अक्ल आएगी कब इन्हें अपने मां-बाप की फिकर होगी आखिर कब यह लव जिहाद का सिलसिला उत्तराखंड में बहुत तेजी से चल रहा है कुछ लड़कियां मिल जाती हैं कुछ को लापता बताकर पुलिस केस बंद कर देती हैं सूटकेस सिलसिला जारी है वो लड़कियां अभी भी जाग जायें जो सोचती हैं कि मेरा अब्दुल ऐसा नहीं है।घटना हरिद्वार कलियर की.इस जिहादी को फांसी हो साले को‘ .

 

 

वायरल फेसबुक पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

 

फैक्ट चेक 

 

फेसबुक पर वायरल हो हुए वीडियो के साथ शेयर किए जा रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वायरल वीडियो से संबंधित कुछ कीवर्ड्स से खोजना शुरू किया। जिसके बाद हमें न्यूज़ 18 की वेबसाइट पर उक्त मामले से संबंधित मार्च 26, 2022 को प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली।

 

 

रिपोर्ट में वायरल वीडियो की घटना पर उत्तराखंड पुलिस द्वारा दिए गए बयान का जिक्र किया गया है।  जिसके मुताबिक यह घटना हरिद्वार जिले से है। पुलिस ने बताया कि ‘गुलशेर उर्फ गुलबेज नाम के एक लड़के ने एक युवती को पिरान कलियर स्थित एक गेस्ट हाउस में बुलाया था। कुछ देर बाद यह लड़का जब होटल से निकला तो उससे सूटकेस ठीक से उठाया नहीं जा रहा था। इस पर स्टाफ को शक हुआ तो उसे पकड़कर सूटकेस खुलवाया गया। इसमें से लड़की की लाश निकली. इस पूरे घटनाक्रम का एक वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुआ

 

प्राप्त इस रिपोर्ट में उक्त मामले को लेकर कहीं भी लोव जिहाद होने की बाद नहीं कही गयी है। मामले की पुष्टि के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से तथ्यों को खोजना शुरू किया। जिसके बाद हमें TV9 के यूट्यूब चैनल पर उक्त मामले पर एक वीडियो मिला।

 

 

प्राप्त वीडियो से हमें पता चला कि इस मामले की जांच सीओ विवेक कुमार कर रहे हैं। जिसके बाद हमने विवेक कुमार से फ़ोन पर सीधा संपर्क किया। जहां उन्होंने बताया कि, ‘सोशल मीडिया पर उक्त मामले में लव जिहाद के होने का दावा किया जा रहा है जो की गलत है।  युवक और युवती दोनों एक ही समुदाय विशेष से थे और करीबी रिश्तेदार भी थे। उन्होंने कहा कि उन दोनों का लंबे समय से अफेयर था, इसलिए लड़का शादी करने का दबाव बना रहा था, लेकिन लड़की ने मना कर दिया था। इसी के बाद 24 तारीख की रात में आरोपी ने उस लड़की की हत्या कर दी और उसे सूटकेस में पैक करके उसकी लाश को ठिकाने लगा रहा था।’ बता दें आरोपी के खिलाफ मृत लड़की के पिता राशिद ने धारा 302 के तेहत उस पर मामला दर्ज करवा है।

वायरल वीडियो की पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से पता चला कि उक्त मामले में लव जिहाद का एंगल नहीं है, वायरल वीडियो के साथ फर्जी दावा शेयर किया जा रहा है।