Hindi Newsportal

कांग्रेस विधायकों को लालच देने का इल्जाम गलत, राहुल गांधी के पद्चिन्हों पर चल रहे हैं कांग्रेस विधायक: जेपी नड्डा

JP Nadda (file image)
0 346

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी पर लगे कांग्रेस पार्टी के विधायकों को पैसों का लालच देकर दल बदलने के लिए प्रेरित करने के आरोपों का खंडन किया.

नड्डा, जो झारखण्ड के दो दिवसीय दौरे पर हैं, ने रांची में पत्रकारों से बात करते हुए कहा, “भाजपा पर यह आरोप लगाया जाना कि हम कांग्रेस पार्टी के विधायकों को पैसों का लालच दे रहे हैं, इनमे बिलकुल सच्चाई नहीं है.  कांग्रेस विधायक केवल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नक्शेकदम पर चल रहे हैं, जिन्होंने लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.” 

यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस सदस्यों द्वारा दलबदल भाजपा की ‘कांग्रेस-मुक्त भारत’ (कांग्रेस-मुक्त भारत) योजना का हिस्सा था, उन्होंने कहा: “कांग्रेस-मुक्त भारत का मतलब कांग्रेस संस्कृति का अंत है – भ्रष्टाचार, और वंशवाद और वोट बैंक की राजनीति का अंत होना है. नरेंद्र मोदी सरकार ने इसे हासिल किया है.”

क्रिकेटर एम.एस.धोनी के भाजपा में शामिल होने की खबरों पर नड्डा ने कहा, “हम अपनी पार्टी में समाज के हर वर्ग का स्वागत करते हैं.”

मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं पर सवाल पूछे जाने पर पार्टी प्रमुख ने कहा, “किसी को भी कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है. भाजपा ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका साथ’ की राजनीति में विश्वास करती है.”

ALSO READ: गोवा कैबिनेट में फेरबदल: नए मंत्रियों को कल मिलेंगे मंत्रालय, चंद्रकांत कावलेकर…

बता दें कि बीते एक सप्ताह से कर्नाटक में राजनीतिक संकट चरम सीमा पर है. सत्तारूढ़ कांग्रेस- जेडीएस गठबंधन के दर्जनों नेताओं ने पार्टी से अपना इस्तीफ़ा दे दिया है, जिसको लेकर विपक्ष भारतीय जनता पार्टी पर हमलावर रहा है. कर्नाटक में मौजूदा स्थिति ऐसी बन चुकी है कि विधानसभा में मानसून सत्र शुरू होने के बाद कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने  विश्वासमत कराने का प्रस्ताव रखा है. भाजपा ने ख़ुद को विश्वासमत के लिए तैयार बताते हुए सोमवार को ही विश्वासमत कराए जाने की मांग की है.

इसके साथ ही बुधवार को गोवा विधानसभा के 10 कांग्रेस विधायकों ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफ़ा देकर भाजपा का हाथ थाम लिया था.