Hindi Newsportal

लंदन में भारतीय हाई कमीशन पर खालिस्तानी समर्थकों ने किया हमला, एक व्यक्ति गिरफ्तार

0 5,870
लंदन में भारतीय हाई कमीशन पर खालिस्तानी समर्थकों ने किया हमला, एक व्यक्ति गिरफ्तार

 

लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग की ईमारत पर खालिस्तानी समर्थकों द्वारा तोड़फोड़ की गयी साथ ही उच्चायोग की इमारत के पहली मंजिल पर लगे  तिरंगा को भी उतारा गया था। इसके एक दिन बाद इस मामले को लेकर एक व्यक्ति की गिरफ़्तारी हुई है। इस घटनास्थल के वीडियो में एक भारतीय अधिकारी उच्चायोग की पहली मंजिल की खिड़की से एक प्रदर्शनकारी से भारतीय ध्वज छीनकर अपने कब्जे में लेता दिख रहा है, जबकि प्रदर्शनकारी खालिस्तान का झंडा लहराते हुए कगार से लटका हुआ था।

सुरक्षा बलों के अधिकारियों को रविवार को अंतरराष्ट्रीय समयानुसार करीब 13:50 बजे भारतीय उच्चायोग में हमले की सूचना दी गयी थी। उनके आने से पहले ही अधिकतर उपद्रवी फरार हो गये थे।

महानगर पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है। एक प्रवक्ता ने कहा “उच्चायोग भवन में खिड़कियां टूट गईं। सुरक्षाकर्मियों के दो सदस्यों को चोटें आईं। हालांकि यह चोटें मामूली हैं और इन्हें अस्पताल में इलाज की आवश्यकता नहीं है।”

घटना से नाराज भारत ने ब्रिटिश उच्चायुक्त को तलब किया, हालांकि उच्चायुक्त एलेक्स एलिस के दिल्ली से बाहर होने के कारण उच्चायोग के उप प्रमुख विदेश मंत्रालय पहुंचे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि विदेश मंत्रालय ने घटना को लेकर ब्रिटेन के राजनयिक को कड़ा संदेश दिया।

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, लंदन में उच्चायोग में प्रदर्शनकारियों के भारतीय तिरंगे को उतारने की घटना के संबंध में सरकार ने दिल्ली में ब्रिटेन के राजनयिकों को तलब किया है। लंदन में भारतीय उच्चायोग के खिलाफ अलगाववादी और चरमपंथी तत्वों की ओर से की गई कार्रवाई पर भारत ने कड़ा रुख अपनाया है। भारत ने इसका विरोध दर्ज कराने के लिए रविवार देर शाम ब्रिटेन के वरिष्ठतम राजनयिक को तलब किया।

घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए, पूर्व विदेश सचिव कंवल सिब्बल ने ट्वीट किया: “यूके में हमारे मिशन परिसर में शारीरिक रूप से प्रवेश करने और खालिस्तानी ध्वज लहराते तत्वों के साथ हमारे राष्ट्रीय ध्वज को बाहर निकालने के लिए खालिस्तानियों का कृत्य पूरी तरह से अस्वीकार्य है”।

ब्रिटेन के विदेश राष्ट्रमंडल और विकास मामलों के राज्य मंत्री लॉर्ड तारिक अहमद ने ट्वीट किया है कि वह भारतीय उच्चायोग पर हमले से “स्तब्ध” हैं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि “लंदन में भारतीय उच्चायोग पर आज के हमले से स्तब्ध हूं। यह मिशन और उसके कर्मचारियों की अखंडता के खिलाफ पूरी तरह से अस्वीकार्य कार्रवाई है। यूके सरकार भारतीय उच्चायोग की सुरक्षा को हमेशा गंभीरता से लेगी।

लंदन के मेयर सादिक खान ने भी इस मामले को लेकर ट्वीट किया उन्होंने लिखा कि, “मैं आज भारतीय उच्चायोग में हुई हिंसक अव्यवस्था और तोड़फोड़ की निंदा करता हूं। इस तरह के व्यवहार के लिए हमारे शहर में कोई जगह नहीं है। आज के घटनाक्रम में मौसम विभाग ने जांच शुरू कर दी है।’