Hindi Newsportal

AAP को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिलने पर केजरीवाल हुए भावुक, कहा- ‘मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन की बहुत याद आ रही…’

Delhi CM Arvind Kejriwal (file image)
0 404
AAP को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिलने पर केजरीवाल हुए भावुक, कहा- ‘मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन की बहुत याद आ रही…’

 

आम आदमी पार्टी को चुनाव आयोग द्वारा सोमवार को राष्ट्रीय पार्टी की मान्यता दी गयी। जिसके बाद आज दिल्ली पार्टी मुख्यालय में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पार्टी कार्यकर्ताओं का सम्बोधन किया। इस मौके पर सीएम अरविन्द केजरीवाल मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन को लेकर भावुक हो गए है। उन्होंने कार्यक्रम को  संबोधित करते हुए कहा कि आज इस खुशी के मौके पर मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन की बहुत याद आ रही है।

सीएम केजरीवाल ने कार्यक्रम का संबोधन करते हुए कहा कि आज आम आदमी पार्टी देश की राष्ट्रीय पार्टी बन गई है। इसके लिए मैं सबसे पहले सभी कार्यकर्ताओं, समर्थकों, हमारे वोटरों और आलोचकों को बधाई देता हूं। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गजब ही हो गया, अद्भुत कल्पनीय, ऐसा लग रहा है कि कल का ही दिन था। 26 नवंबर 2012 को पार्टी बनी थी। तब लग रहा था कि एक विधायक भी बन पाएगा। देश में 1300 पार्टी हैं। उनमें से 6 राष्ट्रीय पार्टी हैं और उनमें से भी सिर्फ 3 पार्टी हैं जिनकी 2 या ज्यादा राज्यों में सरकार है। वो है भाजपा, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस।

अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘हम AAP में देश के लिए मरने-मिटने के लिए आएं हैं। अगर किसी के मन में पद या पैसे का लालच आए तो पार्टी छोड़ देना।  सभी राष्ट्र विरोधी ताकतें हमें स्कूल-अस्पताल बनाने से रोकना चाहती हैं. सभी जेल जाने के लिए तैयार रहना.’  इसके अलावा उन्होंने कहा, ‘हमारी क्या औकात, हम तो निमित्त मात्र हैं। कहां से कहां आ गए, 10 साल के अंदर राष्ट्रीय पार्टी बन गए। इसका मतलब भगवान हमसे देश के लिए कुछ तो कराना चाह रहा है.’

आज इस खुशी के मौके पर मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन की बहुत याद आ रही है। वो संघर्ष कर रहे हैं। इस वक्त सारी राष्ट्रीय विरोधी ताकतें लगी हुई है। मनीष सिसोदिया का क्या कसूर था ? मनीष सिसोदिया का कसूर ये था कि उन्होंने गरीब लोगों को अच्छी शिक्षा का सपना दिया। सत्येंद्र जी का कसूर ये था कि उन्होंने गरीब से गरीब सभी को अच्छे स्वास्थ्य की सुविधा दी। तो ये सारी राष्ट्रीय विरोधी ताकतें पीछे लगी हुई है।