Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: यूपी में बीजेपी सांसद और विधायक की हुई मारपीट के वीडियो को सोशल मीडिया पर मध्य प्रदेश चुनाव से जोड़कर भ्रामक दावे के साथ किया गया वायरल 

0 2,059

फैक्ट चेक: यूपी में बीजेपी सांसद और विधायक की हुई मारपीट के वीडियो को सोशल मीडिया पर मध्य प्रदेश चुनाव से जोड़कर भ्रामक दावे के साथ किया गया वायरल 

 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वीडियो हो रहा है। वीडियो में कुछ नेताओं को आपस में जूता-लात से मारपीट करते हुए देखा जा सकता है। इंटरनेट पर वायरल वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची जारी होने बाद कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की आपस में झड़प होगयी।

फेसबुक पर वायरल वीडियो को शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि “कांग्रेस में टिकट की जगह जूते बंट रहे हैं और किसी को कॉंग्रेस से टिकट चाहिए

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

 

वायरल वीडियो को देखने पर हमें इसके पुराने होने की आशंका हुई। जिसके बाद हमने अपनी पड़ताल आरम्भ की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो वाली घटना UP Tak के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर मार्च 06, 2019 को अपलोड किए गए वीडियो में मिली।

 

प्राप्त वीडियो में दी गयी जानकारी के मुताबिक यह वीडियो उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर में साल 2019 के दौरान हुई घटना का है। जहां किसी बैठक के दौरान बीजेपी विधायक राकेश सिंह और बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी के बीच बहस शुरू हुई लेकिन देखते-देखते यह बहस हाथापाई में तब्दील हो गई। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी के सांसद शरद त्रिपाठी ने अपनी ही पार्टी के विधायक पर जूतों की बारिश कर दी।

पुष्टि के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजा। इस दौरान हमें वायरल वीडियो Live Hindustan के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर मिला। जिसे मार्च 06, 2019 में ही अपलोड किया गया है। यहाँ भी उपरोक्त यूट्यूब पर प्राप्त वीडियो वाली जानकारी दी गयी है।

 

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2019 का है। साथ ही यह उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर से भाजपा के ही विधायक और सांसद के बीच हुई झड़प का वीडियो है। इसका मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी द्वारा पहली सूची से कोई संबंध नहीं है।