Hindi Newsportal

कांग्रेस ने ठुकराया राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठान का निमंत्रण, कहा- “यह भाजपा/आरएसएस का कार्यक्रम है”

0 867
कांग्रेस ने ठुकराया राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठान का निमंत्रण, कहा- “यह भाजपा/आरएसएस का कार्यक्रम है”

 

देश में  आने वाली 22 जनवरी 2024 को एक ऐतिहासिक दिन के तौर पर मनाया जाने वाला है। आने वाली 22 जनवरी को राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह का आयोजन किया जाएगा। ऐसे में समारोह के लिए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट की ओर देशभर में निमंत्रण बांटें जा रहे हैं। इसी क्रम में कांग्रेस को भी इस समारोह के लिए निमंत्रण दिया गया था। लेकिन कांग्रेस ने यह निमंत्रण अस्वीकार कर दिया।

कांग्रेस ने राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के आयोजन को आरएसएस और भाजपा का इवेंट बाटते हुए निमंत्रण अस्वीकार कर दिया। कोंग्रस के महासचिव संचार जयराम रमेश ने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खरगे, कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी और लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने ”RSS/भाजपा के कार्यक्रम” के निमंत्रण को अस्वीकार कर दिया है।

गौरतलब है कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट की ओर से कई विपक्षी नेताओं को न्योता भेजा गया था। इससे पहले सीपीएम और शिवसेना (यूबीटी) पार्टी पहले ही इस समारोह से किनारा कर चुके हैं।

कांग्रेस द्वारा न्योता अस्वीकार किए जाने पर मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी और अधीर रंजन चौधरी द्वारा अयोध्या में राम मंदिर के ‘प्राणप्रतिष्ठा’ समारोह का निमंत्रण अस्वीकार करने पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, “कांग्रेस पार्टी का भगवान राम विरोधी चेहरा देश के सामने प्रस्तुत हो चुका है। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि सोनिया गांधी के नेतृत्व में जिस पार्टी ने अदालत में दस्तावेज दिया था कि भगवान राम का कोई अस्तित्व नहीं है, उस कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व ने राम मंदिर के ‘प्राणप्रतिष्ठा’ के निमंत्रण को अस्वीकार कर दिया…सोनिया गांधी और कांग्रेस के नेतृत्व में INDI गठबंधन ने बार-बार सनातन धर्म का अपमान किया है। अब INDI गठबंधन के नेताओं द्वारा ‘प्राणप्रतिष्ठा’ के निमंत्रण को अस्वीकार करना उनकी सनातन विरोधी सोच को दर्शाता है…”