Hindi Newsportal

LokSabha Election 2024: भाजपा के ‘400 पार’ नारे और संविधान बदलने को लेकर अमित शाह ने स्पष्ट की अपनी बात

0 215

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के बीच देश के गृह मंत्री अमित शाह ने न्यूज एजेंसी ANI को एक इंटरव्यू दिया है. इस दौरान उन्होंने कई सवालों का जवाब दिया है. भाजपा के ‘400 पार’ नारे और संविधान बदलने को लेकर चल रही अटकलों पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “निश्चित रूप से नहीं. संविधान बदलने का बहुमत हमारे पास 10 साल से है. हमें 400 सीटें चाहिए क्योंकि देश में राजनीति में स्थिरता लाना चाहते हैं क्योंकि देश की सीमाओं को सुरक्षित रखना है…हमने 10 वर्षों में अपनी सीटों का उपयोग कैसे किया? अनुच्छेद 370 को निरस्त किया, तीन तलाक को खत्म किया, राम मंदिर बना, UCC लेकर आए…बहुमत के दुरूपयोग करने का इतिहास हमारी पार्टी का नहीं है. बहुमत का दुरूपयोग इंदिरा गांधी के समय में कांग्रेस ने किया था…”

 

अमित शाह ने शराब नीति मामले में मिली केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर कहा, “मैं सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता”

शराब नीति मामले में दिल्ली CM अरविंद केजरीवाल को अंतरिम ज़मानत मिलने पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “मैं सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता. लेकिन जिस तरह से AAP, कुछ मीडिया समूह और ज्यादातर पत्रकार इसको केजरीवाल की जीत मान कर चल रहे हैं. मैं इसे थोड़ा स्पष्ट करना चाहूंगा…यह क्लीन चिट नहीं है. आरोपपत्र अभी भी सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष है, यदि उन्हें(अरविंद केजरीवाल) इतना भरोसा था, तो सत्र न्यायालय में अपील करते कि मेरे खिलाफ चार्ज ही ग़लत है…”

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की “अगर आप मुझे वोट देंगे तो मुझे जेल नहीं जाना पड़ेगा” वाली टिप्पणी पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “अगर उन्होंने ऐसा कहा है तो इससे बड़ी सुप्रीम कोर्ट की अवमानना नहीं हो सकती. क्या सुप्रीम कोर्ट जीत और हार के आधार पर गुनाह का निर्णय करेगा?…”

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अंतरिम ज़मानत और चुनाव प्रचार पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “एक मतदाता के रूप में मेरा मानना है कि वे जहां भी जाएंगे, लोगों को शराब घोटाला याद आएगा…कई लोगों को तो बड़ी बोतल दिखेगी.”

 

गृह मंत्री की कुछ अहम बातों पर डाले नजर

  • ओडिशा CM नवीन पटनायक पर PM नरेंद्र मोदी के हमले और PM पर नवीन पटनायक के पलटवार पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “…किसी भी नेता द्वारा बयान हालिया स्थिति को देखते हुए किया जाता है. PM ने मौजूदा स्थिति को देखकर ही बयान किया है. मेरा भी मानना है कि वहां सरकार बदलने जा रही है.”
  • केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “जो लोग अनुच्छेद 370 पर सवाल उठाते हैं, मैं उनसे कहना चाहूंगा कि वहां मतदान 40% पार कर गया, अनुच्छेद 370 (हटाने) की इससे बड़ी सफलता नहीं हो सकती…शांतिपूर्ण मतदान बताता है कि बदलाव हुआ है.”
  • केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, “मुझे लगता है कि बदलाव होगा. पूरे INDI गठबंधन का चरित्र एक तरह से एक-दूसरे से मिलता है. सारी पार्टियां परिवारवादी है, सारी पार्टियां कहती हैं कि धारा 370 वापस लाएंगे. सारी पार्टियां तीन तलाक चाहती हैं. सारी पार्टियां भ्रष्टाचार में आकंठ डूबी हुई हैं…”
  • तथाकथित ‘उत्तर-दक्षिण भारत विभाजन’ पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “…अगर कोई कहता है कि ये अलग देश है, तो यह बहुत आपत्तिजनक है… इस देश का अब कभी भी विभाजन नहीं हो सकता है. कांग्रेस पार्टी के एक कद्दावर नेता ने उत्तर और दक्षिण भारत को विभाजित करने की बात कही और कांग्रेस पार्टी इससे इनकार नहीं करती. देश की जनता को सोचना चाहिए कि कांग्रेस पार्टी का एजेंडा क्या है…पांच राज्यों केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक को मिलाकर इन चुनाव में भाजपा सबसे बड़ा बद बनने जा रही है…”
  • आरक्षण पर हाल ही में सोशल मीडिया पर चल रही अटकलों पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “…हमने यह बिल्कुल स्पष्ट कर दिया है कि जब तक भाजपा का एक भी सांसद है तब तक SC, ST और OBC आरक्षण को कोई हाथ नहीं लगा सकता… नरेंद्र मोदी से बड़ा SC, ST और OBC आरक्षण का कोई समर्थक नहीं है.”
  • ‘क्या भाजपा के पास बहुमत के आंकड़े तक नहीं पहुंचने की स्थिति में कोई प्लान बी है?’ के जवाब में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “प्लान बी तब बनाना पड़ता है जब प्लान ए (सफल होने) में 60% से कम संभावना हो. मुझे यकीन है कि प्रधानमंत्री मोदी प्रचंड बहुमत के साथ जीत कर आएंगे…”