Hindi Newsportal

हरियाणा: ‘दंगाइयों से वसूला जायेगा हर्जाना’, नूह हिंसा पर बोले मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर

0 681

हरियाणा: ‘दंगाइयों से वसूला जायेगा हर्जाना’, नूह हिंसा पर बोले मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर

नूह हिंसा और बवाल पर आज यानी बुधवार को राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बयान जारी किया है। उन्होंने कहा कि जो भी इस हिंसा में शामिल है उसे बख्शा नहीं जाएगा और कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिस किसी ने भी निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया है, वे इसकी भरपाई के लिए खुद उत्तरदायी हैं।

सीएम खट्टर ने कहा कि राज्य में कोई भी गैरकानूनी गतिविधि न हो इसके लिए 20 अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है। 6 लोगों की मौत हुई है, जिनमें 2 पुलिस कर्मी और 4 नागरिक हैं। 116 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 90 अन्य को हिरासत में लिया गया है और पूछताछ के बाद कार्रवाई की जाएगी। जो भी इसमें शामिल है उसे बख्शा नहीं जाएगा और कार्रवाई की जाएगी। नूंह में इंडियन रिजर्व बटालियन भी तैनात की जाएगी।

उन्होंने कहा कि हमने एक अधिनियम पारित किया है जिसमें यह प्रावधान है कि किसी भी नुकसान के लिए, सरकार सार्वजनिक संपत्ति को हुए नुकसान के लिए मुआवजा जारी करती है लेकिन जहां तक निजी संपत्ति का सवाल है, जिन लोगों ने नुकसान पहुंचाया है वे इसकी भरपाई के लिए उत्तरदायी हैं। इसलिए, हम सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान के लिए प्रावधान करेंगे और निजी संपत्ति के लिए हम कहेंगे कि उन लोगों से मुआवजा वसूला जाए जो इसके लिए उत्तरदायी हैं।

बजरंग दाल के मोनू मानेश्वर के बारे में बात करते हुए सीएम खट्टर ने कहा कि राजस्थान सरकार ने बजरंग दल के मोनू मानेसर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। हमने उनसे कहा है कि उसकी तलाश के लिए जो भी मदद की जरूरत होगी वह हम मुहैया कराएंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि नूंह में लोगों की संपत्तियों के नुकसान का आकलन करने के लिए एक योजना शुरू की जाएगी।

गौरलतब है कि हरियाणा के मेवात जिले के नूंह में सोमवार को विश्व हिंदू परिषद और मातृशक्ति दुर्गा वाहिनी की तरफ से निकाली जा रही ब्रजमंडल यात्रा के दौरान बवाल हो गया। दो गुटों में टकराव के बाद पथराव और आगजनी की खबर सामने आई। इस बीच दोनों गुटों के बीच सांप्रदायिक हिंसा भड़क गयी। इस दौरान उपद्रवियों ने कई गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया। इतना ही नहीं उपद्रवियों ने पुलिस पर भी पथराव किया।