Hindi Newsportal

सरकार का CEIR पोर्टल दिलाएगा आपको आपका चोरी हुआ फोन… अब चोरी हुए फोन मिलेंगे वापस !

0 657

आज के समय में स्मार्टफोन का चोरी हो जाना या गुम जाना आम बात सी हो गई है. और उससे भी ज्यादा आम है उन फोन का ना मिलना. तो अगर आपका भी स्मार्ट फोन चोरी हो गया है या फिर किसी जगह पर आपका स्मार्टफोन खो गया है तो उसे ढूंढने के लिए आज हम आपको एक बेहतरीन तरीका बताने वाले हैं. पढ़िए यह रिपोर्ट…

 

यदि आपका स्मार्ट फोन खो गया है या फिर चोरी हो गया है तो फिर आप क्या करते हैं..? या तो आप पुलिस में शिकायत दर्ज कराते है या फिर अपने सिम कार्ड को लॉक करवाते है. यह केवल इस लिए नहीं कि आपको आपका फोन सुरक्षित मिल सके बल्कि इस लिए ताकि आपके फोन का कोई गलत इस्तेमाल ना करें इससे खुद को बचाने के लिए, क्योंकि रिपोर्ट के बाद भी फोन का मिलना तो नामुमकिन ही है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसी वेबसाइट के बारे में बताने वाले हैं जो आपके खोए या फिर चोरी हुए स्मार्टफोन को ढूंढने में आपकी मदद करेगा.

 

CEIR यह एक सरकारी पोर्टल है जिसके माध्य में आप अपने स्मार्टफोन को ढूंढ सकते हैं. स्मार्टफोन को ढूंढने के लिए आप सीइआइआर पोर्टल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

आखिर क्या है CEIR पोर्टल ?

CEIR (Central Equipment Identity Register) यह एक ऐसी वेबसाइट है, जिसे इंडियन गवर्नमेंट के टेलीकॉम डिपार्टमेंट के द्वारा लांच किया गया है. इस वेबसाइट के जरिए आप अपने खो चुके या फिर चोरी हो चुके फोन की शिकायत वेबसाइट पर दर्ज करवा सकता है. बता दें कि इसके लिए आपके पास अपने खो चुके मोबाइल का आईएमइआई नंबर अर्थात इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आईडेंटिटी होनी चाहिए. इसके जरिए आप अपने चोरी हुए फोन को लॉक भी करवा सकते हैं

 

CEIR पोर्टल कैसे काम करता हैं?

अगर आपका मोबाइल चोरी हो गया है या फिर किसी जगह पर आपका फोन खो गया है, तो आपके परेशान होने  की जरूरत नहीं बल्कि आपको ऑनलाइन अपनी शिकायत को दर्ज करवाने के लिए आप सीइआइआर वेबसाइट पर जा सकते हैं और अपने मोबाइल को ब्लॉक करा सकते हैं.

 

  • सबसे पहले आपको अपने फोन की FIR दर्ज करवानी होगी, जिसकी कॉपी CEIR की वेबसाइट पर ड़ालनी जरूरी है.
  • अब नीचे दी गई जानकारियों को दर्ज करें.

  • इन सभी जानकारियों को सही तरह से दर्ज करने के बाद, डिक्लेरेशन बॉक्स को चेक मार्क करें और सबमिट बटन पर क्लिक कर दें.
  • इतनी प्रोसेस पूरी करने के बाद वेबसाइट के पास आपकी रिक्वेस्ट चली जाती है और रिक्वेस्ट का वेरिफिकेशन करने के बाद आपके मोबाइल को ब्लॉक कर दिया जाता है.

 

इस पूरी प्रोसेस के बाद यदि चोर आपके फोन की सिम निकालता है या फिर उसे स्टार्ट करता है तो उसकी सीधी जानकारी पुलिस तक पहुंच जाती है जिसके चलते आप अपना फोन वापस पा सकते हैं.