Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: समुदाय विशेष के युवक द्वारा RSS को लेकर लगाए गए नारों का वीडियो हालिया दिनों का नहीं, बल्कि साल भर पुराना है, पढ़ें पूरा सच

0 1,406
फैक्ट चेक: समुदाय विशेष के युवक द्वारा RSS को लेकर लगाए गए नारों का वीडियो हालिया दिनों का नहीं, बल्कि साल भर पुराना है, पढ़ें पूरा सच

 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में कुछ समुदाय विशेष के युवकों को हिन्दूवादी संगठन RSS के खिलाफ नारे लगाते हुए सुना जा सकता है।  वीडियो में युवकों को ‘काट डालों सालों को- आरएसएस वालों को‘ नारे लगाते हुए सुना जा सकता है। इसी वीडियो को इंटरनेट पर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि तेलंगाना में समुदाय विशेष से ताल्लुक रखने वाले युवकों ने यह नारे हालिया दिनों में लगाए।

फेसबुक के पोस्ट में वायरल वीडियो शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि, ‘भारत का तथाकथित डरा हुआ मु-सलमान तेलंगाना की सड़को पर नारे लगा रहा है- 1) काट डालो सालों को RSS वालों को । 2) बोलो बोलो क्या चाहिए-गुस्ताके नबी का सर चाहिए। क्या इसे हेट स्पीच माना जाएगा ?’

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

फैक्ट चेक: 

 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो पुराना है हालिया दिनों से इसका कोई संबंध नहीं।

 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल की। इस दौरान हमने सबसे पहले कुछ संबंधित कीवर्ड्स के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो क्लिप Mumbai Mirror नामक यूट्यूब चैनल पर अगस्त 25, 2022 को अपलोड किए गए एक वीडियो में मिली।

 

प्राप्त यूट्यूब वीडियो के मुताबिक साल 2022 के दौरान हैदराबाद में तत्कालीन निबलंबित भाजपा विधायक टी राजा द्वारा कथित तौर ‘महोम्मद पैगम्बर’ के खिलाफ दिए गए विवादित बयान के बाद आरएसएस और विधायक के खिलाफ नारेबजी की गयी थी। प्राप्त वीडियो में दी गयी जानकारी के मुताबिक यह नारे कलीमुद्दीन नामक शख्स ने आरएसएस के खिलाफ नारे लगाए थे जिसे पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया था।

पुष्टि के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें सोशल मीडिया पर प्लेटफॉर्म एक्स पर ANI पर एक पोस्ट मिला। जिसे अगस्त 24, 2022 को अपलोड किया गया था। यहाँ जानकारी दी गयी है कि नलगोंडा में एक रैली के दौरान कलीमउद्दीन नाम के एक व्यक्ति ने निलंबित भाजपा विधायक टी राजा सिंह के खिलाफ आरएसएस के खिलाफ अपमानजनक नारे लगाए, जिसकी गूंज अन्य लोगों ने भी दोहराई। आरोपी की पहचान कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। धारा 153, 295ए और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

पड़ताल के दौरान हमें गूगल पर मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2022 के दौरान है।