Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: शोर्ट फिल्म ‘एम्प्टी प्लेस’ का दृश्य इज़राइल-हमास युद्ध से जोड़ कर किया गया वायरल

0 1,145

हमास और इजराइल के बीच युद्ध जारी है। बीती रात इजराइल ने गाजा में हमास पर जोरदार हमला किया बता दें कि अब तक इस जंग में अबतक 2100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। जिनमें करीब 1200 इजराइली हैं जबकि 900 फिलिस्तीनियों की भी मौत हुई है।

इनसब से जोड़ कर इंटरनेट पे एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में कैमरा की मदद से जमीन पर पड़े एक घायल बच्चे का शूट करते दिखाया गया है। वीडियो में कुछ लोगों को बच्चे को अपनी मुद्रा बदलने को कहते है। वहा पर मौजूद एक व्यक्ति असॉल्ट राइफल ले जाता हुआ दिखाई दिया। इससे शेयर करते हुए लोगो ने दावा किया की वीडियो में इजरायली लोग हमास द्वारा बच्चों को मारने के नकली वीडियो बना रहे हैं।

एक फेसबुक यूजर ने इसे शेयर करते हुए लिखा, “देखिए कैसे इजरायली फर्जी वीडियो बनाकर कह रहे हैं कि हमास ने बच्चों को मार डाला।”

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें

इसे फेसबुक और ट्विटर पर काफी शेयर किया गया।

फैक्ट चेक

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल दावा गलत है। दरअसल वीडियो एक फिल्म के शूट का है।

शुरुवाती जांच में हमने देखा कि लोग ट्विटर पर वायरल पोस्ट का जवाब देते हुए कह रहे थे कि यह वीडियो एक फिल्म की शूटिंग का है। एक व्यक्ति ने सिनेमैटोग्राफर मोहम्मद अवावदेह के इंस्टाग्राम अकाउंट का स्क्रीनशॉट भी ट्वीट किया। इसकी मदद से हम मोहम्मद अवावदेह के अकाउंट पे पहुंचे जहा वायरल वीडियो से मिलता जुलता वीडियो देखा जा सकता है। पोस्ट के अनुसार, वीडियो 13 वर्षीय फिलिस्तीनी लड़के अहमद मनसरा के जीवन पर आधारित एक शोर्ट फिल्म है। 2015 में अहमद मनसरा की गिरफ्तारी के कारण आक्रोश फैल गया था। मनसरा को पूर्वी येरुशलम में दो इजरायलियों की चाकू मारकर हत्या करने के मामले में गिरफ्तार किया गया था और वह अभी भी जेल में बंद है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Mohamad Awawdeh (@mohamedawawda)

इसके बाद हमें मनसरा पर बानी शोर्ट फिल्म भी मिली, जिसे 14 अप्रैल, 2022 को “एम्प्टी प्लेस फिल्म” शीर्षक के साथ यूट्यूब पर अपलोड किया गया था। 1.23 मिनट के टाइमस्टैम्प पर हम वही सीन देख सकते हैं जो वायरल वीडियो में क्रू द्वारा उसी लड़के के साथ शूट किया गया है।

इसके बाद हमने वायरल वीडियो को यूट्यूब पे मौजूद शोर्ट फिल्म के साथ तुलना की जिसे नीचे देखा जा सकता है।

पड़ताल के दौरान उपरोक्त मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो करीब एक साल पुराना है और फ़िलिस्तीनी शोर्ट फिल्म ‘एम्प्टी प्लेस’ का एक दृश्य है।