Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: मुंबई में अंबानी का घर तोड़कर जमीन वक़्फ़ बोर्ड को देने वाला सीएम केजरीवाल का यह बयान हालिया दिनों का नहीं, जानें क्या है सच्चाई

0 609
फैक्ट चेक: मुंबई में अंबानी का घर तोड़कर जमीन वक़्फ़ बोर्ड को देने वाला सीएम केजरीवाल का यह बयान हालिया दिनों का नहीं, जानें क्या है सच्चाई

 

सोशल मीडिया पर एक एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का है। जिसमें सीएम केजरीवाल को एक सभा के दौरान यह बयान देते हुए सुना जा सकता है कि “मुंबई के अंदर इस देश का जो सबसे अमीर आदमी है, उसका घर वक्फ बोर्ड की प्रॉपर्टी पर बना है, वहां की सरकार की हिम्मत नहीं है कि उसका कुछ कर दें, हमारी सरकार होती तो उसका घर तोड़कर जमीन वक्फ बोर्ड को दे देते।”

फेसबुक के वायरल पोस्ट को शेयर कर अंग्रेजी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि “Ambani house is on Muslim Property. INDI ALLIANCE will hand over it to Muslims; if they come to power -Arvind Kejriwal”

 

हिंदी अनुवाद- “अंबानी का घर मुस्लिम संपत्ति पर है। अगर वे सत्ता में आए तो INDIA गठबंधन इसे मुसलमानों को सौंप देगा – अरविंद केजरीवाल”

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

 

फैक्ट चेक:

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2019 के दौरान का है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राजस्थान की जनसभा वाले बयान के बाद सोशल मीडिया पर हिन्दू-मुस्लिम का मुद्दा तूल पकड़ता हुआ नजर आरहा है। उनके बयान के बाद से सोशल मीडिया पर कई तरह के दावे रोज वायरल हो रहे हैं। ऐसे में सीएम केजीरवाल का उक्त वीडियो भी वायरल हो रहा है। चूँकि इन दिनों सीएम केजीरवाल तिहाड़ जेल में बंद हैं और आज ही खबर आयी है कि उनकी शुगर लेवल 300 के पार होने पर वह उन्हें इन्सुलिन दिया गया। इसलिए हमें वायरल वीडियो के पुराने होने कि आशंका हुई।

जिसके बाद हमने अपनी पड़ताल शुरू की। सबसे पहले हमने वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल से खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो प्रभा साक्षी नामक वेबसाइट पर सितंबर 27, 2022. को प्रकाशित एक लेख मिला। लेख के मुताबिक वायरल वीडियो साल 2019 के दौरान का है। जहां सीएम केजरीवाल दिल्ली में एक मुस्लिम सभा को संबोधित कर रहे थे। लेख के मुताबिक वायरल वीडियो 2022 में वक़्फ़ बोर्ड के सुर्ख़ियों के आने पर वायरल हुआ था।

उपरोक्त प्राप्त जानकारी के आधार पर हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो के संबंध में जनसत्ता की वेबसाइट पर भी एक लेख प्रकाशित मिला। जिसे सितम्बर 28, 2022 को छापा गया था। यहाँ भी लेख में जानकारी दी गयी है कि सीएम केजरीवाल द्वारा मुंबई में उद्योगपति अनिल अंबानी का घर तोड़ने वाला यह पुराना बयान एक फिर इन दिनों वायरल हो रहा है। 

उपरोक्त प्राप्त लेख से हमने जाना कि वायरल वीडियो 2022 से भी पुराना है इसलिए सटीक जानकारी के लिए हमने इसके बाद हमने वायरल वीडियो की असल में कब का है यह जानने के लिए खोज की। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो AAP Videos नामक यूट्यूब चैनल पर भी मिला। जिसे जनवरी 24, 2019 को अपलोड किया गया था।  वीडियो के कैप्शन में जानकारी दी गयी थी कि यह वीडियो उस दौरान का है, जब अरविंद केजरीवाल ने साल 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले ‘ऐवान ए गालिब ऑडिटोरियम’ में दिल्ली वक्फ बोर्ड द्वारा आयोजित एक सम्मलेन में भाग लिया था। सम्मेलन में आप विधायक अमानतुल्ला खान भी शामिल थे।  

 

 

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2019 के दौरान का है। जिसे हालिया दिनों में शेयर किया जा रहा है।