Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: पुराना है बच्ची को बर्बरता से पीटते हुए लोगों का यह वीडियो, हालिया दिनों में भ्रामक दावे के साथ हो रहा है वायरल, पढ़ें पूरा सच

0 448
फैक्ट चेक: पुराना है, बच्ची को बर्बरता से पीटते हुए लोगों का यह वीडियो, हालिया दिनों में भ्रामक दावे के साथ हो रहा है वायरल, पढ़ें पूरा सच

इन दिनों एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें कुछ लोग एक युवती को बड़ी बेहरहमी से डंडे से पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं। इसी वीडियो को सोशल मीडिया पर हालिया दिनों में शेयर कर दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के योगी कार्यकाल में ठाकुर समाज के लोगों ने मंदिर से बिना अनुमति के पानी पीने पर एक दलित समाज की 8 वर्षीय लड़की को बर्बरता पूर्वक पीटा दिया और उसे प्रताड़ित किया।

फेसबुक पर वायरल वीडियो को शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि “योगी के राज में लड़कियों की पूजा की जा रही है | बिना अनुमति के मंदिर से पानी पीने पर दलित समाज की 8 वर्षीय लड़की को ठाकुरों द्वारा पीटा जा रहा है और प्रताड़ित किया गया! पता नहीं इस देश से यह भेद भाव कब खत्म होगा”

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

 

फैक्ट चेक: 

 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं साथ ही भ्रामक दावे के साथ इसे वायरल किया जा रहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो को देखने पर हमें इसके पुराने होने की आशंका हुई। जिसके बाद हमने अपनी पड़ताल शुरू की। सबसे पहल वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें जनसत्ता की वेबसाइट पर दिसंबर 29, 2021 को प्रकाशित एक लेख में वायरल वीडियो से मेल खाता एक कीफ्रेम मिला। लेख के मुताबिक उत्तर प्रदेश के अमेठी के फुलवारी गांव में रहने वाले सूरज सोनी व उसके घर वालों ने एक बच्ची को मोबाइल चोरी के शक में एक दलित लड़की को पीट दिया।

 

उपरोक्त प्राप्त लेख के मुताबिक वायरल वीडियो वाली घटना साल 2021 के दौरान उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में हुई। जहां अमेठी के फुलवारी गांव के सूरज सोनी ने बच्ची को मोबाइल चोरी के शक में पीटा था। प्राप्त जानकारी की पुष्टि के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें गूगल पर न्यूज़ 18 की वेबसाइट पर वायरल वीडियो से संबंधित एक लेख मिला जिसे दिसंबर 30, 2021 को प्रकाशित किया गया था।

लेख के मुताबिक उत्तर प्रदेश के अमेठी में 16 वर्षीय दलित किशोरी की पिटाई मामले में पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया था। दलित किशोरी की पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने घटना में शामिल मुख्य आरोपी सूरज सोनी, शुभम उर्फ शाकाल और राहुल सोनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। बता दें कि इस घटना में शामिल आरोपियों में कोई भी ठाकुर समाज से नहीं है। इसके साथ ही हमें अमेठी पुलिस द्वारा इस मामले में किया गया ट्वीट भी प्राप्त हुआ।

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2021 के दौरान अमेठी में हुई घटना का है। जहां गांव के कुछ लोगों मोबाइल चोरी के शक में युवती को पीटा था। वायरल वीडियो को हालिया दिनों में भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।