Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: पीएम मोदी पर टिप्पणी करने वाला वरिष्ठ भाजपा नेता उमा भारती का यह वीडियो है सालों पुराना, जानें पूरा सच

0 747

फैक्ट चेक: पीएम मोदी पर टिप्पणी करने वाला वरिष्ठ भाजपा नेता उमा भारती का यह वीडियो है सालों पुराना, जानें पूरा सच

 

 

सोशल मीडिया पर भाजपा नेता उमा भारती का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें वह एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पीएम मोदी को विनाश पुरुष के नाम से संबोधित करती हुई नजर आ रही हैंइसी वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि उमा भारती ने हाल ही में पीएम मोदी को विनाश पुरुष कहा।

फेसबुक पर वायरल वीडियो को शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा कि ‘उमा भारती ने कहा नरेंद्र मोदी विकास नहीं, विनाश पुरुष हैं।’

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

 

फैक्ट चेक:

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि सालों पुराना है।

भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के वायरल इस वीडियो को देखने पर हमें इसके पुराने होने की आशंका हुई। जिसके बाद हमने अपनी पड़ताल शुरू की। पड़ताल के दौरान हमें गूगल पर कुछ संबंधित कीवर्ड्स से खोजा इस दौरान हमें ABP न्यूज़ के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर वायरल वीडियो मिला। जिसे अप्रैल 17, 2014 में अपलोड किया गया था।

 

 

वीडियो में एंकर द्वारा यह जानकारी दी जा रही है कि कांग्रेस पार्टी ने साल 2014 में उमा भारती का एक पुराना वीडियो एक बार फिर शेयर किया था। जिसमें भाजपा नेता उमा भारती ने भारत के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को ‘विकास पुरुष’ के बजाय ‘विनाश पुरुष’ बताया था।

इसके बाद पुष्टि के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें आज तक की वेबसाइट पर अप्रैल 17, 2024 को प्रकाशित एक लेख मिला। लेख के मुताबिक कांग्रेस पार्टी ने उस दौरान बीजेपी नेता उमा भारती का तीन साल पुराना वीडियो जारी किया था, जिसमें वह यह कहती हुई सुनाई दे रही हैं कि पीएम पद के दावेदार नरेंद्र मोदी विनाश के एजेंट हैं और गुजरात में विकास के दावे झूठे हैं। बता दें कि उस वक्त उमा भारती बीजेपी में नहीं थीं।

 

उपरोक्त प्राप्त जानकारी के आधार पर हमने गूगल पर  वायरल वीडियो की सटीक जानकारी के लिए खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें Times of India की वेबसाइट पर वायरल वीडियो के संबंध में एक लेख मिला जिसे अप्रैल 17, 2014 को छापा गया था। लेख में बताया गया था कि यह वायरल वीडियो  तब शूट किया गया था जब उमा ने साल 2006 में भारतीय जनशक्ति पार्टी के नाम से अपना खुद का राजनीतिक संगठन बनाने के लिए भाजपा छोड़ दी थी। लेकिन बाद में उन्होंने साल 2011 के दौरान फिर से भाजपा ज्वाइन कर ली थी।

 

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि साल 2014 के पहले का है। हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि यह वायरल वीडियो कब शूट किया गया था। लेकिन यह वीडियो इससे पहले साल 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान भी वायरल हुआ था।