Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: डॉक्टर पर जानलेवा हमला किए जाने वाली घटना में नहीं है कोई सांप्रदायिक एंगल, फर्जी दावे के साथ वायरल हो रहा है वीडियो, पढ़ें पूरा सच

0 443
फैक्ट चेक: डॉक्टर पर जानलेवा हमला किए जाने वाली घटना में नहीं है कोई सांप्रदायिक एंगल, फर्जी दावे के साथ वायरल हो रहा है वीडियो, पढ़ें पूरा सच

 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में एक व्यक्ति धारदार हथियार से कुर्सी पर बैठे एक दूसरे शख्स पर जानलेवा हमला करता दिखाई दे रहा है। व्यक्ति ने हथियार से इतनी बार हमला किया कि दूसरा व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। 

वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि महाराष्ट्र, नासिक के सुयोग हास्पिटल में एक समुदाय विशेष से ताल्लुक रखने वाले व्यक्ति ने आईसीयू के अन्दर घुसकर डा• कैलाश राठी पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। 

फेसबुक पर वायरल वीडियो शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि “महाराष्ट्र, नासिक के सुयोग हास्पिटल में जेहादी हमलावर ने आईसीयू के अन्दर घुसकर डा• कैलाश राठी पर धारदार हथियार से प्रहार किया, 30 सेकेन्ड में अन्धाधुन्ध किये गए कई प्रहारों के कारण डा• कैलाश राठी कि घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गईl यह बताया जाता है कि यह व्यक्ति डॉक्टर का दोस्त था।”        

 

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।  

 

फैक्ट चेक: 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो को फर्जी सांप्रदायिक एंगल से वायरल किया जा रहा है।

 

वायरल वीडियो के साथ शेयर हो रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल से सर्च करना शुरू किया।  

खोज के दौरान हमें गूगल पर वायरल वीडियो से संबंधित The Indian Express की वेबसाइट पर फरवरी 26, 2024 को छपा एक लेख मिला लेख के मुताबिक यह घटना महाराष्ट्र के नासिक की है जहां पंचवटी इलाके के एक निजी अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. कैलाश राठी पर हमला हुआ।    

 

लेख में पुलिस द्वारा दिए गए बयान का भी जिक्र है। रविवार को एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि महाराष्ट्र के नासिक में पैसों के विवाद को लेकर एक डॉक्टर पर हमला किया गया और उसे गंभीर हालत में स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि पंचवटी इलाके में एक अस्पताल के निदेशक डॉ. कैलास राठी (48) पर शुक्रवार रात दरांती से हमला किया गया था।

लेख में आरोपी की कोई खास जानकारी नहीं दी गयी थी। इसलिए आरोपी की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें गूगल पर इंडिया टीवी की वेबसाइट पर फरवरी 24, 2024 को छपे लेख में वायरल वीडियो मिला।    

लेख के मुताबिक घटना नासिक की है। इस घटना का वीडियो CCTV में कैद हो गया। यह हमला हत्या करने के लिए किया गया था। डॉक्टर गंभीर रूप से घायल है। 

लेख में बताया गया है कि हमला करने वाले शख्स का नाम राजेन्द्र मोरे हैं। लेख के मुताबिक यह घटना नासिक पंचवटी के सुयोग नाम के निजी अस्पताल में शुक्रवार रात 9 बजे की है। हादसे में गंभीर रूप से घायल शख्स का नाम डॉक्टर कैलास राठी है। जबकि आरोपी राजेन्द्र मोरे की तलाश पुलिस CCTV के आधार पर कर रही है।

मामले की पुष्टि के लिए हमने नासिक से पंचवटी थाने की पुलिस से भी सीधा संपर्क किया। इस दौरान उन्होंने भी हमें बताया कि इस मामले में किसी प्रकार का कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है। पुलिस ने जानकारी दी कि यह मामला प्रॉपर्टी के विवाद को लेकर हुआ है। उन्होंने जानकारी दी कि आरोपी का नाम राजेंद्र चंद्रकांत मोरे  हैं जो मुस्लिम नहीं है। 

 

पड़ताल के दौरान हमें मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो को फर्जी सांप्रदायिक एंगल से वायरल किया जा रहा है। इस मामले में कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है।