Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: कई महीने पुराने वीडियो को सोशल मीडिया पर भ्रामक दावे के साथ किया जा रहा है वायरल, पढ़ें पूरा सच 

0 527
फैक्ट चेक:  कई महीने पुराने वीडियो को सोशल मीडिया पर भ्रामक दावे के साथ किया जा रहा है वायरल, पढ़ें पूरा सच 

 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक युवक जबरन एक युवती को गोद में उठाकर उसके साथ दिन में एक मैदान में जल रही अग्नि के फेरे लेते हुए नज़र आ रहा है। इसी वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि वायरल वीडियो राजस्थान का है, जहां एक उच्च जाति का व्यक्ति दलित जाति की युवती का अपहरण कर जबरन उससे शादी रचा रहा है।  

फेसबुक पर वायरल वीडियो शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि “उच्च जाति के व्यक्ति द्वारा एक दलित लड़की का अपहरण और जबरन विवाह जैसलमेर के सांखला गांव में पुष्पेंद्र सिंह नाम के युवक ने 15-20 लोगों के साथ लड़की का किया अपहरण। लड़की को घर से जबरदस्ती उठाकर ले गए और फिर अग्नि को साक्षी मानकर जबरदस्ती फेरे ले लिए।” 

फसबूक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।  

फैक्ट चेक:

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि कई महीने पुराना है साथ ही,  युवती और उसका अपहरण करने वाला व्यक्ति एक ही समुदाय से हैं।  

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो को देखने पर हमें इसके पुराने होने की आशंका हुई। जिसके बाद हमने वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो Pratidin Time नामक फेसबुक पेज पर प्राप्त हुआ, जिसे फेसबुक पर जून 07, 2023 को अपलोड किया गया था।  

 

  

हालांकि फेसबुक से वायरल वीडियो की कोई खास जानकारी प्राप्त नहीं हुई, लेकिन यह साफ़ हो गया कि वायरल वीडियो सोशल मीडिया पर जून, 2023 से ही मौजूद है।  

 

इसलिए वीडियो की सटीक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो Indian Express की वेबसाइट पर जून 07, 2023 को प्रकाशित एक लेख में मिला।

लेख के मुताबिक वायरल वीडियो वाला मामला राजस्थान के जैसलमेर का है। लेख में पुलिस के हवाले  जानकारी दी गयी है की युवती का और उसका अपहरण करने वाला व्यक्ति एक जाति से हैं।     

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो हालिया दिनों का नहीं बल्कि जून, 2023 का है। इसके साथ हुई युवती और उसका अपहरण करने वाला व्यत्कि एक ही जाति से हैं।