Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: आर्मा 3 गेम का ये वायरल क्लिप इजरायल-फलस्तीन के बीच चल रहे युद्ध का बता कर किया गया शेयर

0 480

गाजा पट्टी में बढ़े तनाव के बीच इजरायल पर हमास के आतंकियों ने भारी मात्रा में मिसाइल हमले किए। इस युद्ध में अबतक करीब एक हजार से अधिक लोगों की जान चली गई और कई लोग घायल हो गए, अब इसी घटना से जोड़ कर इंटरनेट पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में हेलीकॉप्टरों को मिसाइलों से निशाना बनाकर तबाह करते हुए दिखाया गया है। इस वीडियो को शेयर कर लोगो ने दवा किया की वीडियो हाल का है जहाँ हमास के आतंकवादियों को इजरायल के हेलीकॉप्टरों को मार गिराया।

एक फेसबुक यूजर ने इसे शेयर करते हुए लिखा, “ऐसे मंज़र आपने फलस्तीन मे पहले कभी नहीं देंखे होंगे गाज़ा में फलस्तीनी हरयत पसंदो ने 4 इज़राइली जंगी हेलिकाप्टर को मार गिराया और अपनी तयारी से दुनिया को हैरान कर दिया..”

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

इसे फेसबुक और ट्विटर पर काफी शेयर किया गया।

फैक्ट चेक

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल दावा झूठा है। दरअसल वायरल क्लिप वीडियो गेम अरमा 3 से लिया गया है।

इंटरनेट पर वायरल हो रहे वीडियो के साथ शेयर किए गए दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल की। हमने सबसे पहले वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो एक यूट्यूब चैनल पे मिला जिसे की 04 अक्टूबर, 2023 को अपलोड किया गया था, यानि की जंग शुरू होने से चार दिन पहले। वीडियो के टाइटल में लिखा था, “एंटी एयरक्राफ्ट डिफेंस द्वारा दो लड़ाकू हेलीकाप्टरों को मार गिराया गया – आर्मा।” नीचे वीडियो के विवरण में लिखा था की वीडियो असली नहीं बल्कि एक स्टिमुलेशन (अनुकरण) है। यानि की वायरल हो रहा वीडियो असली नहीं है।

आगे पड़ताल में हमने चैनल के ‘अबाउट सेक्शन‘ को देखा जिसमे स्पष्ट लिखा है कि “आपको ओरिजिनल गेमप्ले वीडियो और अन्य चीजे यहां मिलेंगी. देखकर आनंद लें और सब्सक्राइब करना न भूलें. कोई भी वीडियो सैन्य अभियानों के प्रदर्शन को असल रूप में प्रस्तुत नहीं करता है. ये सभी वीडियो आर्मा 3 गेम एडिटर से बनाए गए हैं।”

पड़ताल के दौरान उपरोक्त मिले तथ्यों से हमने जाना कि वायरल वीडियो असल में आर्मा 3 गेम एडिटर से बनाया गया है। इसका इजरायल-फलस्तीन के बीच चल रहे युद्ध से कोई लेना देना नहीं है। वायरल हो रहा दावा गतल है।