Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: आरक्षण को लेकर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की अधूरी वीडियो क्लिप हो रही है वायरल, जानें पूरा सच

0 632

फैक्ट चेक: आरक्षण को लेकर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की अधूरी वीडियो क्लिप हो रही है वायरल, जानें पूरा सच

सोशल मीडिया पर आरक्षण को लेकर कथित तौर पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा दिए बयान का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में मोहन भागवत कहते हैं कि ”संघ वाले बाहर से तो बातें अच्छी करेंगे लेकिन अंदर जाकर बोलेंगे कि आरक्षण का हमारा विरोध है”
एमपी

फेसबुक पर वायरल वीडियो शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि” *हम संघ वाले अंदर-अंदर से आरक्षण का विरोध करते है लेकिन बाहर आकर बोल नहीं सकते”* बाहर दलित/पिछड़ा/अतिपिछड़ा और आदिवासी का झूठ बोल कर वोट जो लेना होता है। आरक्षण और संविधान खत्म करने वालों को जनता इस चुनाव में ख़त्म कर देगी

फेसबुक के वायरस पोस्ट का लिंक यहां देखें।

फैक्ट चेक:

 

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो आधा-अधूरा है। जिसे भ्रम फ़ैलाने के लिए शेयर किया जा रहा है।

वायरल वीडियो को देखने पर हमें इसके आधे अधूरे होने का शक हुआ इसलिए सच्चाई जानने के लिए हमने पड़ताल की। सबसे पहले हमने वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेज टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो से संबंधित कुछ जानकारी न्यूज़ 18 की वेबसाइट पर अप्रैल 29, 2024 को प्रकाशित एक रिपोर्ट में मिली।

 

 

रिपोर्ट के मुताबिक आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने बीती अप्रैल 28 को हैदराबाद में विद्या भारती विज्ञान केंद्र के उद्घाटन समारोह में जनसभा को संबोधित करते हुए यह कहा था कि ’आरएसएस संविधान के अनुसार आरक्षण का समर्थन करता है। उन्होंने कहा कि संगठन भेदभाव व्याप्त रहने तक आरक्षण लागू रखने की वकालत करता है।’

उपरोक्त प्राप्त जानकारी के आधार पर हमने गूगल पर तथ्यों को और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें हिंदुस्तान टाइम की वेबसाइट पर अप्रैल 28, 2024 को प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। रिपोर्ट में मोहन भागवत के बयान को छापा गया था। जहां उन्होंने कहा था कि ‘आरक्षण और संघ को लेकर फेक वीडियो फैलाया जा रहा है। यह भी कहा जा रहा है कि इस बारे में हम बाहर नहीं बोल सकते हैं। यह सब पूरी तरह से झूठ है।’

 

इसके बाद हमने गूगल पर वायरल वीडियो क्लिप को और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल क्लिप का पूरा वर्जन ANI द्वारा किए गए ट्वीट में मिली।  जहां मोहन भागवत कहते हैं कि “अभी मैं यहाँ आया कल तो मैंने सुना… एक वीडियो घूम रहा है… कि संघ वाले बाहर से तो बातें अच्छी करते हैं, लेकिन अंदर जा कर कहते हैं आरक्षण को हमारा विरोध है, बाहर हम बोल नहीं सकते। अब ये एकदम असत्य बात है, गलत बात है।

 

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से हमने जाना की वायरल वीडियो क्लिप अधूरी थी। आधे-अधूरे वीडियो सोशल मीडिया पर भ्रम फ़ैलाने के लिए शेयर किया जा रहा था। पूरे वीडियो में मोहन भागवत कहते है कि “अभी मैं यहाँ आया कल तो मैंने सुना… एक वीडियो घूम रहा है… कि संघ वाले बाहर से तो बातें अच्छी करते हैं, लेकिन अंदर जा कर कहते हैं आरक्षण को हमारा विरोध है, बाहर हम बोल नहीं सकते। अब ये एकदम असत्य बात है, गलत बात है।”