Hindi Newsportal

फैक्ट चेक: अयोध्या से नहीं है स्कूली बच्चे की पिटाई का वीडियो, हरियाणा में हुई घटना के वीडियो को भ्रामक दावे से किया गया वायरल

0 973
फैक्ट चेक: अयोध्या से नहीं है स्कूली बच्चे की पिटाई का वीडियो, हरियाणा में हुई घटना के वीडियो को भ्रामक दावे से किया गया वायरल

 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में दो लोग एक स्कूली बच्चे को पीटते हुए नज़र आ रहे हैं। इसी वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि अयोध्या में राम मंदिर समारोह के दौरान एक दलित बच्चे को फूल फेकने आयोजकों ने जमकर पीट दिया।

इसी वीडियो को फेसबुक पर शेयर कर हिंदी भाषा के कैप्शन में लिखा गया है कि ‘अयोध्या में राम मंदिर समारोह के दौरान फूल फेंकने पर एक दलित लड़के विष्णु को आयोजकों ने पीटा..!! भाई आपको किस ने कहा था वहां सेलिब्रेट करो दलित का काम बस दंगा करना हिंदू ब्राह्मण के राज के लिए लड़ना है राम मंदिर के दान पुन का और वहां पुजारी बनने का नही है डूब जाओ कही चुल्लू भर पानी में।’

फेसबुक के वायरल पोस्ट का लिंक यहाँ देखें।

 

फैक्ट चेक:

न्यूज़मोबाइल की पड़ताल में हमने जाना कि वायरल वीडियो अयोध्या के राम मंदिर समारोह का नहीं है।   

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के साथ शेयर किए जा रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने गूगल पर पड़ताल की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम में तोड़ा और फिर गूगल पर रिवर्स इमेजे सर्च टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें ट्विटर पर FaridabadNews नामक ट्विटर हैंडल पर मिला। जिसे दिसंबर 26, 2023 को अपलोड किया गया था।

उपरोक्त ट्विटर हैंडल से मिली जानकारी के मुताबिक स्कूली बच्चे का यह वायरल वीडियो फरीदाबाद सेक्टर 12 का है। वायरल वीडियो की सटीक जानकारी के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें वायरल वीडियो से संबंधित टीटर पर एक और ट्वीट मिला, जहां अयोध्या पुलिस ने वायरल वीडियो वाली घटना की जानकारी देते हुए बताया कि यह घटना अयोध्या की नहीं है। सोशल मीडिया पर यह वीडियो भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

 

 

पड़ताल के दौरान हमने जाना कि वायरल वीडियो की घटना का अयोध्या के राम मंदिर आयोजन से कोई संबंध नहीं हैं। यह वीडियो अयोध्या का नहीं बल्कि हरियाणा के फरीदाबाद का है।