Hindi Newsportal

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वॉयस ऑफ ग्लोबल साउथ समिट के उद्घाटन सत्र को किया संबोधित

0 619

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दूसरी वॉयस ऑफ ग्लोबल साउथ समिट के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा, “वॉयस ऑफ ग्लोबल साउथ 21वीं सदी की बदलती हुई दुनिया का सबसे अनूठा मंच है. भौगोलिक रूप से ग्लोबल साउथ हमेशा से रहा है लेकिन उसे इस प्रकार से आवाज़ पहली बार मिल रही है. ये हमारे साझा प्रयासों से हो पाया है. हम 100 से ज्यादा अलग अलग देश है लेकिन हमारे हित समान हैं, हमारी प्राथमिकताएं समान हैं.”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “पिछले साल दिसंबर में जब भारत ने जी-20 की अध्यक्षता संभाली तब हमने इसमें ग्लोबल साउथ के देशों की आवाज़ को आगे बढ़ाना अपनी प्राथमिकता मानीं.”

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कहा, “मैं उस ऐतिहासिक क्षण को नहीं भूल सकता, जब भारत के प्रयासों से अफ्रीकी संघ को स्थायी सदस्य के रूप में जी20 में शामिल किया गया था.” पीएम मोदी ने कहा कि भारत का मानना है कि नई तकनीक से ग्लोबल साउथ और नार्थ के बीच दूरियां नहीं बढ़नी चाहिए.

 

भारत ने इजरायल पर आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमने बातचीत, कूटनीति के साथ-साथ संयम पर भी जोर दिया है. हम हमास और इजरायल के बीच संघर्ष में आम नागरिकों के मारे जाने की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं. अब वक्त आ गया है कि ग्लोबल साउथ के देशों को पूरी दुनिया के व्यापक हित में मिल कर आवाज उठानी चाहिए.