Hindi Newsportal

प्रदूषण से बेहाल दिल्ली, राजधानी में सांस लेना हुआ मुश्किल, ‘गंभीर’ श्रेणी में AQI, मुंबई में भी बढ़ा वायु प्रदूषण

फाइल इमेज
0 369
प्रदूषण से बेहाल दिल्ली, राजधानी में सांस लेना हुआ मुश्किल, ‘गंभीर’ श्रेणी में AQI, मुंबई में भी बढ़ा वायु प्रदूषण

 

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इन दिनों सबसे बड़ी चिंता और चर्चा का विषय है वायु प्रदूषण। दिवाली से पहले दिल्ली गैस चैम्बर जैसी होगयी है जहां सांस लेना मुश्किल हो रहा है। पिछले कई दिनों से देश की राजधानी में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में बनी हुई है। सरकार ने प्रदूषण के मद्देनज़र  शहर में GRAP-4 लागू कर दिया गया है साथ ही सभी प्राइवेट और सरकारी स्कूलों को बंद कर ऑनलाइन क्लास लेने के निर्देश दिए गए हैं।

 

दिल्ली में समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) आज सुबह 418 दर्ज किया गया, जिसमें सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र पंजाबी बाग (460), नरेला (448), बवाना (462), आनंद विहार (452), और रोहिणी (451) है. रविवार को दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में शामिल मुंबई में आज सुबह AQI 165 दर्ज किया गया. नोएडा, गुरुग्राम और आसपास के अन्य शहरों में भी स्थिति बेहतर नहीं है। वहीं नोएडा का औसत AQI 409, गुरुग्राम का 370, फ़रीदाबाद का (396) और गाजियाबाद का (382) था।

 

उधर देश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाली मुंबई में भी वायु की गुणवत्ता दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है।

गौरतलब है कि वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) पैमाने के अनुसार, शून्य और 50 के बीच रीडिंग को “अच्छा” माना जाता है, 51 से 100 के बीच रीडिंग “संतोषजनक” के अंतर्गत आती है, 101 से 200 के बीच “मध्यम” मानी जाती है, 201 से 300 के बीच रीडिंग को “खराब” के रूप में वर्गीकृत किया जाता है. 301 से 400 को “बहुत खराब” और 401 से 500 को “गंभीर” माना जाता है।