Hindi Newsportal

अप्रैल-नवंबर में राजकोषीय घाटा बढ़कर 7.17 लाख करोड़ पहुंचा

0 2,343

नई दिल्ली। राजस्व की वृद्धि दर कम होने के कारण चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से नवंबर की अवधि में देश का राजकोषीय घाटा साल के बजटीय लक्ष्य का 114.8 फीसदी हो गया है, जो ‎कि कुल 7.17 लाख करोड़ रुपए है। बजट में पूरे साल में 6.24 लाख करोड़ रुपए के वित्तीय घाटे का लक्ष्य रखा गया था।

महालेखा नियंत्रक (सीएजी) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले वित्त वर्ष के पहले आठ महीनों में राजकोषीय घाटा पूरे वित्त वर्ष के लक्ष्य का 112 फीसदी रहा था। चालू वित्त वर्ष में नवंबर तक सरकार का कुल खर्च 16.13 लाख करोड़ रुपए रहा, जबकि कुल प्राप्ति 8.97 लाख करोड़ रुपए (बजटीय अनुमान का 49.3 फीसदी) रहा, जबकि वित्त वर्ष 2017-18 में समान अवधि में कुल प्राप्ति बजटीय अनुमान का 54.2 फीसदी था।