Hindi Newsportal

फैक्ट चेक : क्या कांग्रेस की रैली में फहराया गया पाकिस्तान का झंडा ? जानें सच

0 184

सोशल मीडिया पर हरे झंडे की एक तस्वीर वायरल हो रही है और दावा किया जा रहा है की ये पाकिस्तानी झंडा कांग्रेस की रैली के दौरान फहराया गया है।

सोशल मीडिया पर इस पोस्ट के साथ कैप्शन में लिखा है – “₹80 का पेट्रोल छोड़िये मै 90 का पेट्रोल अपनी गाड़ी में खुशी-खुशी भरवा लूंगा पर कभी ऐसी पार्टी को वोट नहीं दूंगा जिसकी रैली में “हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगते हो और “पाकिस्तानी झंडा” फैराया जाता हो।”

अंग्रेजी में ट्रांसलेशन – Translation: I will fill ₹90/L petrol in my car happily, but I will never vote for a party whose supporters shouts “Hindustan Murdabad” and hoist “Pakistani flag” in rallies. )

इस पोस्ट का लिंक आप यहाँ देख सकते है।

ऐसे ही कुछ पोस्ट आप यहाँ, यहाँ, यहाँ, यहाँ और यहाँ देख सकते है।

फैक्ट चेक :

न्यूज़ मोबाइल ने इस पोस्ट की जांच की और पाया की ये फेक है।

ये भी पढ़े : फैक्ट चेक: क्या भारत सरकार ने अडानी ग्रुप को बेच दिया इंडियन आयल? जानें सच

कार पर लगे झंडे को ध्यान से देखने पर हमें शक हुआ। तब हमने गूगल पर पाकिस्तान के झंडे की खोज की और ब्रिटानिका पर हमे पाकिस्तानी झंडे का चित्र मिला जो कार पर लगे ध्वज से मेल नहीं खा रहा था।

आगे और जांच करने पर हमें विकिपीडिया पर वायरल ध्वज की एक और तस्वीर मिली। तब हमे पता चला कि हरे रंग की कार पर झंडा भारतीय संघ मुस्लिम लीग यानी (IUML) का है जो एक भारतीय राजनीतिक दल है।

एक कोलाज की मदद से, हम स्पष्ट रूप से देख सकते हैं कि कार पर ध्वज IUML का है न कि यह पाकिस्तानी ध्वज है।

इसके बाद हमने एक और खोज की तो हमे पता चला की IUML और कांग्रेस, ‘द यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट’ का एक हिस्सा है जो (केरल में राजनीतिक दलों का गठबंधन) हैं। संभवतः यही कारण हो सकता है कि झंडे एक ही रैली में एक साथ देखे गए।

हालाकिं हम स्वंत्र रूप से इस बात का पता नहीं लगा पाए की ये तस्वीर कब और कहा पहली बार ली गयी थी।

इससे पहले, 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान भी ऐसे ही कई वायरल फेक क्लेम की जांच की थी और इन्हें झूठा साबित किया था। इनका लिंक आप यहाँ, यहाँ और यहाँ देख सकते है।

No! Pakistan flags were not raised in Kerala; here’s the fact check

इतनी जानकारी से हम दावा कर सकते है की सोशल मीडिया पर वायरल ये पोस्ट भ्रामक है।

यदि आप किसी भी स्टोरी को फैक्ट चेक करना चाहते हैं, तो इसे +91 11 7127 9799 पर व्हाट्सएप करें