Hindi Newsportal

फलों-सब्जियों के MSP तय करने वाला पहला राज्‍य बना केरल, 1 नवंबर से लागू होगी योजना

File Image
0 278

देश में किसानों का मुद्दा और उनकी भलाई के लिए उठाये गये कदमों को लेकर कई प्रदेशों की सरकार प्रश्नों में रहती है। अब किसानों को बड़ी राहत देते हुए केरल सरकार ने सब्जियों के लिए आधार मूल्‍यतय कर दिया है। इसी के साथ केरल सब्जियों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी (MSP) तय करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है।

1 नवंबर से लागू होगी योजना।

सब्जियों का यह न्यूनतम या आधार मूल्य उत्पादन लागत यानी की (Production Cost) से 20 फीसदी अधिक होगा। इस बात की जानकारी राज्‍य के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने देते हुए कहा कि यह योजना 1 नवंबर से लागू कर दी जाएगी।

ये भी पढ़े : बिहार चुनाव लाइव: एक बजे तक 33 फीसदी हुआ मतदान, शाम 6.30 बजे चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस भी

16 किस्‍म की सब्जियों के बेस प्राइस होंगे तय।

प्रदेश के मुख्यमंत्री विजयन ने योजना की ऑनलाइन शुरुआत करते हुए कहा कि यह पहला मौका है, जब केरल में उत्पादित 16 किस्मों की सब्जियों के लिए बेस प्राइस तय किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसी भी राज्य की ओर से यह पहली ऐसी पहल है, जो किसानों को राहत और आर्थिक मदद देगी। इससे उनकी आमदनी में भी इजाफा होगा उनके नुकसान की आशंका कम होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सब्जियों का आधार मूल्य उनकी उत्पादन लागत से 20 फीसदी ज्‍यादा रखा जाएगा।

जानें किसका कितना है MSP ?

केरल सरकार ने कुल 21 खाने-पीने की चीजों के लिए एमएसपी तय किए हैं। राज्य में तापियोका का एमएसपी MSP 12 रुपये प्रति किग्रा तय किया गया है। वहीं, केला 30 रुपये, अन्‍नास 15 रुपये प्रति किग्रा और टमाटर का एमएसपी 8 रुपये प्रति किग्रा तय किया गया है। बता दें कि कर्नाटक सरकार और पंजाब सरकार भी ऐसी मांग पर विचार कर रही है। इधर महाराष्ट्र में अंगूर, टमाटर, प्याज जैसी फसलों के किसान भी एमएसपी की मांग कर रहे हैं तो पंजाब के किसान संगठनों ने हाल में राज्य सरकार से सब्जियों और फलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित करने की मांग की है।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram