Hindi Newsportal

पहली बार कांग्रेस से ज्यादा लोकसभा सीटों पर लड़ रही है भाजपा, 437 सीटों पर लगाया दांव

0 246

पहली बार अपनी प्रमुख प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस की तुलना में ज़्यादा लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही सत्तारूढ़ भाजपा ने 2019 लोकसभा चुनावों में 437 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है.

जबकि, कांग्रेस ने 423 सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा की है और आने वाले दिनों में कुछ और उम्मीदवारों की घोषणा करने की संभावना है. हालांकि, यह संभावना नहीं है कि इसके उम्मीदवारों की संख्या भाजपा से अधिक होगी.

2014 में, भाजपा ने 427 सीटों पर चुनाव लड़ा था और उनमें से 282 सीटों पर जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस ने 450 पर उम्मीदवार उतारे थे, जिसमे से वह 44 सीटें अपने नाम कर पाई थी.

राजनीतिक पर्यवेक्षकों का कहना है कि 2014 में चुनाव जीतने के बाद देश भर में भाजपा के विस्तार के परिणामस्वरूप ही भाजपा कांग्रेस से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

इसके अलावा, भाजपा के ज़्यादातर उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं क्योंकि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में भाजपा का कोई गठबंधन नहीं है, जिसके कारण भाजपा ने सभी सीटों पर अपनी ही पार्टी के उम्मीदवार उतारे हैं.

चूंकि टीडीपी प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने एनडीए से नाता तोड़ लिया है , इसलिए भाजपा आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की सभी 42 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

ALSO READ: केरल में पिछले 30 वर्षों में सर्वाधिक मतदान प्रतिशत दर्ज

हालांकि, भाजपा गठबंधन के कारण बिहार, झारखंड और असम में कम सीटों पर चुनाव लड़ रही है. इसी तरह, भव्य पुरानी पार्टी कांग्रेस इस बार भाजपा की तुलना में कम सीटों पर चुनाव लड़ रही है क्योंकि उसने 2014 की तुलना में अधिक पार्टियों के साथ गठबंधन किया है, जिसके चलते कई सीटें उसे दूसरी पार्टियों के लिए छोड़नी पड़ी.

कर्नाटक में, जहां कांग्रेस ने 2014 में सभी सीटों पर चुनाव लड़ा था, अब जेडी (एस) के साथ गठबंधन में है. पार्टी ने नए सहयोगियों के प्रवेश के साथ बिहार में अपने गठबंधन का विस्तार किया है.