Hindi Newsportal

दिल्ली -NCR में बढ़ते वायु प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए राष्ट्रपति ने कमीशन को दी मंज़ूरी

0 207

केंद्र सरकार ने दिल्ली समेत पूरे एनसीआर में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण की निगरानी और हालातों को काबू में रखने के लिए एक कमीशन का गठन किया है, जिसका मकसद दिल्ली समेत पूरे एनसीआर में प्रदूषण को नियंत्रित करने का होगा। बता दे इस कमीशन में 1 चेयरमैन और उसके अलावा 17 सदस्य भी होंगे।

इस आयोग में एक चेयरपर्सन के साथ साथ केंद्र सरकार, एनसीआर के राज्यों के प्रतिनिधि, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और इसरो के भी प्रतिनिधि शामिल होंगे। फिलहाल मिली सूचनाओं के आधार पर इस आयोग के एक अध्यक्ष और 17 सदस्यों को केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त किया जाएगा। साथ ही दिल्ली, हरियाणा, यूपी, पंजाब और राजस्थान के प्रतिनिधि शामिल होंगे। इस आयोग के बनने से तमाम टॉस्क फोर्स, कमेटी और एक्सपर्ट ग्रुप के बीच किसी मुद्दे पर होने वाला मतभेद खत्म होगा और सिनर्जी में काम होगा और तो और इस आयोग का मुख्यालय दिल्ली में स्तिथ होगा।

केंद्र सरकार ने दी थी इसके गठन की जानकारी।

गौरतलब है कि तीन दिन पहले सुप्रीम कोर्ट में प्रदूषण के मुद्दे पर हुई सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने कोर्ट में इस तरह के एक कमीशन के गठन की जानकारी दी थी, जिसके बाद कोर्ट ने सुनवाई आज तक के लिए टाल दी थी। आज की सुनवाई से एक दिन पहले यानी बुधवार को ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कमीशन गठन करने के अध्यादेश पर हस्ताक्षर कर दिए है।

आयोग के पास होंगे ये कथित अधिकार।

आयोग के पास प्रदूषण संकट को समाप्त करने के लिए दिशा-निर्देश जारी करने, शिकायतों के आधार पर खुद और तुरंत संज्ञान लेने, बिजली आपूर्ति रोकने या किसी संस्था या उद्योग के खिलाफ कार्रवाई करने का अधिकार होगा।

ये भी पढ़े : मुंगेर की घटना पर मचा सियासी बवाल, प्रशासनिक अमले ने दी सफाई, जानें क्या है पूरा मामला

आयोग के किसी भी अधिकारी को उसके कार्य में बाधा पहुंचाने और आयोग के नियमों का उल्लंघन करने वाले के खिलाफ आपराधिक प्रक्रिया की संहिता लागू होगी। खास बात ये है कि जुर्माने के साथ एक या 5 साल तक के कारावास की सजा हो सकती है। और तो और, जुर्माने की राशि 1 करोड़ रुपये या उससे अधिक भी हो सकती है।

इधर दिल्ली में ज़हरीली हुई हवा।

दिल्ली-एनसीआर में लगातार 5 दिनों से वायु प्रदूषण का स्तर बेहद खराब स्थिति में बरकरार है। इससे लोगों को सांस लेने में परेशानी, गले में खरांश व आंखों में जलन महसूस होने लगी है। बताया जा रहा है कि पंजाब, हरियाणा व दिल्ली के आसपास के इलाकों में पराली जलाने की घटनाएं कुछ कम हुई हैं, लेकिन हवा की दिशा अनुकूल होने से पराली के धुएं से दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण बढ़ने की आशंका है।

बता दे जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम के आस पास एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 359 ‘बेहद खराब श्रेणी में रहा, जबकि जहांगीरपुरी में AQI 420 ये ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गया है। इसके अलावा आनंद विहार में PM 2.5- 359 और PM 10- 301 रहा।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram