Hindi Newsportal

जयपुर के 21 साल के लड़ने ने रचा इतिहास, सबसे कम उम्र का बनेगा जज

Mayank Pratap Singh
0 226

जयपुर के एक 21 वर्षीय लड़के ने इतिहास रच दिया है। मयंक प्रताप सिंह भारत के सबसे कम उम्र के जज बनेंगे। मयंक ने एक नया रिकॉर्ड बनाया, जब उन्होंने राजस्थान न्यायिक सेवा 2018 परीक्षा को केवल 21 साल की उम्र में क्रैक किया। इतना ही नहीं इन्होंने इस परीक्षा में टॉप भी किया है.

अपनी सफलता पर, मयंक ने कहा, “मैं अपनी सफलता से संतुष्ट हूं और मैं अपने परिवार, शिक्षकों और सभी शुभचिंतकों को उनके योगदान के लिए धन्यवाद देता हूं जिन्होंने मुझे पहले प्रयास में परीक्षा को क्रैक करने में मदद की। मैं परीक्षा में केवल इसलिए उपस्थित हो सका क्योंकि न्यूनतम आयु कम कर दी गई थी। ”

मयंक ने आगे कहा, “समाज में जजों का बहुत सम्मान है. इसके अलावा उनका काम समाज के लिए बहुत मायने रखता है. इस वजह से शुरू से ही मेरे मन में न्यायिक सेवाओं के प्रति आकर्षण था. मैंने राजस्थान विश्वविद्यालय से पांच वर्षीय एलएलबी पाठ्यक्रम में 2014 में प्रवेश लिया था. कोर्स खत्म होने के बाद मैंने एग्जाम दिया और पहले ही प्रयास में मुझे सफलता मिल गई.”


ALSO READ: संसद: कांग्रेस ने इलेक्टोरल बॉन्ड में पारदर्शिता की मांग को लेकर किया विरोध प्रदर्शन

बता दे कि न्यायिक सेवा परीक्षा में उपस्थित होने के लिए मूल आयु 23 वर्ष थी, जिसे इस वर्ष राजस्थान उच्च न्यायालय ने घटाकर 21 वर्ष कर दिया था।

मयंक के अनुसार, यह एक अच्छा कदम था क्योंकि इससे खाली पड़े पदों की रिक्तियों को भरने में मदद मिलेगी और कहा कि इससे उन्हें अपने करियर में अधिक लोगों की मदद करने में भी मदद मिलेगी।

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram