Hindi Newsportal

उद्धव सरकार का बड़ा फैसला :देवेंद्र फडणवीस-राज ठाकरे समेत कई नेताओं की घटाई सुरक्षा, बीजेपी ने किया पलटवार

File Image
0 356

महाराष्ट्र सरकार ने राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं की सुरक्षा को घटाने का एलान किया है। जिन नेताओं की सुरक्षा घटाने का फैसला लिया गया है, उनमें पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, राज ठाकरे, केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले, भाजपा नेता चंद्रकांत पाटिल, प्रवीण दरेकर, प्रसाद लाड और दूसरे मुख्य विपक्षी नेताओं के नाम शामिल हैं।

जेड सुरक्षा और बुलेटप्रुफ वाहन को भी हटाने की बात।

बता दे एमएनएस पार्टी के अध्यक्ष राज ठाकरे की जेड सुरक्षा को हटा दिया गया है और इसके अलावा उनके काफिले से बुलेटप्रुफ वाहन को भी हटाने की बात कही गई है।

अब किस को मिलेगी कैसी सुरक्षा ?

आठ जनवरी को जारी सरकारी अधिसूचना के अनुसार फडणवीस को अब ‘जेड-प्लस श्रेणी के बजाए ‘एस्कॉर्ट के साथ वाई-प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री की पत्नी अमृता फडणवीस और बेटी दिविजा की सुरक्षा एस्कॉर्ट के साथ वाई-प्लस श्रेणी से घटा कर एक्स श्रेणी कर दी गई है। उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल राम नाइक को अब वाई-प्लस के बजाए वाई श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी। एमएनएस प्रमुख की सुरक्षा जेड श्रेणी से घटा कर एस्कॉर्ट के साथ वाई प्लस श्रेणी की कर दी गई है।

इनकी भी सुरक्षा वापिस।

भाजपा नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे, राज्य भाजपा प्रमुख चंद्रकांत पाटिल और पार्टी के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार की सुरक्षा वापस ले लिए गई है। बता दे राणे के पास वाई-प्लस श्रेणी की सुरक्षा थी। इसके अलावा राज्य लोकायुक्त एम एल टाहिलियानी की सुरक्षा जेड श्रेणी से घटाकर वाई श्रेणी की कर दी गई है। केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे की वाई-प्लस श्रेणी की सुरक्षा वापस ले ली गई है। सरकार ने पूर्व मंत्री राजकुमार बडोले, भाजपा विधायक प्रसाद लाड और राम कदम तथा विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष एवं भाजपा विधायक हरिभाऊ बागडे की सुरक्षा वापस ले ली है। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले को एस्कॉर्ट सहित वाई प्लस के बजाए केवल वाई-प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी।

ये भी पढ़े : देश के सात राज्यों में फैला बर्ड फ्लू, चिकन और अंडों के गिरे दाम

11 की सुरक्षा की कम, 2 की बढ़ाई।

आठ जनवरी को जारी सरकारी अधिसूचना के मुताबिक, सरकार ने दो लोगों की सुरक्षा बढ़ाई है, 11 की सुरक्षा कम की गई है, 16 लोगों की सुरक्षा वापस ली गई है, वहीं 13 नए लोगों को सुरक्षा दी गई है।

किस – किस को मिली सुरक्षा ?

सुरक्षा प्राप्त करने वाले नए लोगों में राज्य के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार, और युवा सेना के सचिव वरुण सरदेसाई शामिल हैं। सरदेसाई मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे के रिश्तेदार हैं। दोनों को ‘एक्स श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। इसके अलावा राज्य के मंत्रियों संदीपन भूमरे, सुनील केदार, दिलीप वल्से पाटिल और अब्दुल सत्तार, विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दारेकर और राज्य विधानसभा के उप सभापति नरहरि झिरवाल को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी।

बीजेपी ने बताया बदले की कार्रवाई।

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार के फैसले पर भारतीय जनता पार्टी ने हमला बोला है। बीजेपी के मुख्य प्रवक्ता केशव उपाध्याय ने उद्धव ठाकरे सरकार के फैसले को बदले की कार्रवाई बताया है।

महाराष्ट्र सरकार पर बीजेपी नेता का कटाक्ष।

उधर, बीजेपी नेता सुधीर मुनगुंटीवार ने महाराष्ट्र सरकार के फैसले पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट करके कहा, ‘सरकार का धन्यवाद… आपने हमारी सुरक्षा वापस ली। नक्सलग्रस्त जिला होने के कारण मुझे सुरक्षा दी गई थी, लेकिन आज नक्सलवाद खत्म होता दिखाई दे रहा है। हमारी सुरक्षा हटाई गई। फिर भी जनता के हितों की सुरक्षा के लिए हमारी आवाज और धारदार होगी।’

Click here for Latest News updates and viral videos on our AI-powered smart news

For viral videos and Latest trends subscribe to NewsMobile YouTube Channel and Follow us on Instagram